Crime

GORAKHPUR : दारोगा ने महिला स्‍वास्‍थ्‍यकर्मी को जबरन रखा था अपने पास!, आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप, केस दर्ज होने के बाद गिरफ्तार

GORAKHPUR : दारोगा ने महिला स्‍वास्‍थ्‍यकर्मी को जबरन रखा था अपने पास!, आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप, केस दर्ज होने के बाद गिरफ्तार

जहाँ एक तरफ सीएम योगी आदित्यनाथ और डीजीपी मुकुल गोयल लगातार महिला सुरक्षा और महिला सम्मान की बात करते हैं, वहीँ दूसरी तरफ चंद पुलिस वाले उनकी बातों को हवा में उड़ा रहे हैं. दरअसल, ये हम इसलिए बता रहे हैं क्योंकि गोरखपुर में एक और दारोगा के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है. मुकदमे के बाद दरोगा को अरेस्ट कर लिया गया है. दरोगा पर महिला को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगा है. एसएसपी गोरखपुर ने साफ़ तौर पर कहा है कि मामले में जांच जारी है जल्द ही फाइनल रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई होगी।

ये है मामला 

जानकारी के मुताबिक, बेलीपार के भीटी गांव निवासी शहाना गोरखपुर के जिला अस्पताल में संविदा कर्मचारी थी. कोतवाली क्षेत्र के बक्शीपुर में किराए पर कमरा लेकर अपने 10 माह के बच्चे और दारोगा के साथ रहती थी. शुक्रवार की सुबह कमरे में उसका शव फंदे से लटकता मिला था. उसको सात माह से मानदेय नहीं मिला था, लिहाजा कोतवाली पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट, और आर्थिक तंगी के हवाले से इसे सीधे आत्महत्या का मामला बता दिया. पर मृतका सहाना की मां-बहन और भाई इसे हत्या बता रहे थे. उनका कहना था कि शहाना निशा की हत्या कर खुदकुशी का रूप दिया गया है. वे इसके लिए गोरखपुर एलआईयू में तैनात बलिया जिले के रहने वाले दरोगा राजेन्द्र सिंह पर आरोप लगा रहे हैं.

परिजनों ने लगाए गंभीर आरोप 

मृतका शहाना की मां तैरुननिशा ने थाने में मौजूद एसपी सिटी सोनम कुमार, सीओ कोतवाली वीपी सिंह को बताया कि क्षेत्रीय अभिसूचना इकाई गोरखपुर में तैनात दारोगा ने जबरन उनकी बेटी को अपने साथ रखा था. जब भी उन्होंने बेटी से मिलने और अपने साथ ले जाने का प्रयास किया जान से मारने की धमकी देकर उसने भगा दिया. पहले से ही शादीशुदा होने के बाद भी दारोगा ने इस बारे में शहाना को नहीं बताया. शहाना के बहनोई जावेद ने बताया कि 15 अक्‍टूबर की सुबह दारोगा ने उनके पास फोन करके बताया कि शहाना ने खुदकुशी कर ली है. घटना कैसे हुई यह पूछने पर बताया कि रात को दोनों अलग-अलग कमरे में थे इसलिए जानकारी नहीं हाे पाई।

आरोपित दरोगा गिरफ्तार 

रविवार को पूरे दिन शहाना की मां-बहन और भाई और रिश्तेदारों को कोतवाली थाने में पुलिस अफसरों के साथ ही एलआईयू के अफसर समझाते रहे. जब मृतका के परिजन पीछे नहीं हेट तब जाकर देर शाम कोतवाली पुलिस ने केस दर्ज होने की जानकारी दी. फ़िलहाल कोतवाल कल्याण सिंह सागर ने बताया कि शहाना की मां की तहरीर पर दरोगा राजेंद्र सिंह पर आईपीसी की धारा 306 के तहत केस दर्ज किया गया है. एसएसपी डॉ. विपिन ताडा ने बताया कि आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज करके आरोपित दरोगा को गिरफ्तार कर लिया गया है. आगे अनुसंधान में जैसे साक्ष्य मिलेंगे, वैसा किया जाएगा।

संवाददाता

MEGHA CHAUHAN

Police Media News

Leave a comment