Crime

CTET पेपर लीक प्रकरण... 2 नंबरी निकला DELHI POLICE का इंस्पेक्टर, जल्दी पैसा कमाने के लिए लीक किया था पेपर

CTET पेपर लीक प्रकरण... 2 नंबरी निकला DELHI POLICE का इंस्पेक्टर, जल्दी पैसा कमाने के लिए लीक किया था पेपर

खबर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से है, जहां दिल्ली एनसीआर क्षेत्र नोएडा पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। खबर है कि नोएडा पुलिस ने सीटेट पेपर लीक गिरोह के 18 लोगों को गिरफ्तार किया है। नोएडा पुलिस के मुताबिक पकड़े गए लोगों में एक युवक दिल्ली पुलिस का सब इंस्पेक्टर है, तो वहीं दूसरा सीआरपीएफ के एक सेवानिवृत्त कॉन्स्टेबल है।  

नोएडा पुलिस ने किया CTET पेपर लीक प्रकरण का पर्दाफाश

नोएडा पुलिस के मुताबित पुलिस ने होटल से 18 लोगों को गिरफ्तार किया। इन लोगों पर केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सी-टीईटी) पेपर लीक करने का आरोप है। इसके साथ ही पुलिस ने कहा ये सभी अपनी लाइफस्टाइल को जीने के लिए पेपर लीक करते थे। पूछताछ में पकड़े गए युवको ने बताया कि पेपर लीक करने के एवज में प्रतिमाह 70 से 80 हजार रूपये मिलते थे। 

आंसर शीट सौंपने के मिलते थे नंबर

पुलिस ने बताया कि गिरोह ने तय किया कि 2006 बैच के एएसआई विकास और सीआरपीएफ के सेवानिवृत्त कॉन्स्टेबल भवानी शर्मा लेनदेन का काम संभालेंगे। अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त रणविजय सिंह ने कहा कि विकास और भवानी शर्मा उम्मीदवारों को आंसर शीट सौंपने के बाद उनसे रुपये लेते थे। उन्होंने यह भी बताया कि उन्होंने अपनी जरूरतें पूरी करने के लिए विनय दहिया (गिरोह के कथित सरगना) के साथ पार्ट टाइम काम करने के लिए हाथ मिलाया।'

गैंग में 4-5 लोग थे कोर सदस्य

 दिल्ली पुलिस के सब इंस्पेक्टर ने पुलिस पूछताछ के दौरान बताया कि दोनों पिछले दो साल से गिरोह का हिस्सा थे। सूत्रों ने बताया कि एक एएसआई के तौर पर विकास को हर महीने 70,000-80,000 रुपये मिलते थे। उनके मुताबिक  इस तरह के रैकेट से पैसा कमाना बहुत आसान होता है। इन गिरोहों में ज्यादातर 4-5 कोर सदस्य होते हैं और फिर इनमें ऐसे लोग शामिल होते हैं जो जल्दी पैसा कमाना चाहते हैं। एक क्वैश्चन पेपर या आंसर शीट बेचने से उन्हें रातों- रात में लगभग 20-30 लाख रुपये मिल जाते हैं।

नोएडा पुलिस ने कहा

नोएडा से पुलिस की टीम अब हर एक आरोपी के परिवार से मिलने का फैसला किया है। उनके बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए उनके बैंकों से लेनदेन की भी जानकारी एकत्र की जाएगी। पुलिस ने कथित सरगना दहिया को पकड़ने के लिए उसके साथ के और करीबी लोगों से संपर्क करेगी। रणविजय सिंह ने कहा कि 'दहिया की गिरफ्तारी से इस पूरे मामले की बारीकी से जांच की जाएगी । पुलिस को उम्मीद  है कि वे उसे जल्द ही पकड़ लेंगे। साथ ही, हम प्रतियोगी परीक्षाओं में बैठने वाले उम्मीदवारों से भी अनुरोध करते हैं कि वे इस तरह के अनुचित साधनों का सहारा न लें अपनी मेहनत के बलबूते परीक्षा पास करने का प्रयास करें।

मुख्य संवाददाता

HARSH PANDEY

Police Media News

Leave a comment