Khaki Connection

विधानसभा चुनाव 2022... असीम अरुण ही अकेले शख्स नहीं, पहले भी खादी ने खाकी को अपनी तरफ खींचा

विधानसभा चुनाव 2022... असीम अरुण ही अकेले शख्स नहीं, पहले भी खादी ने खाकी को अपनी तरफ खींचा

यूपी की राजनीति (UP Politics) में पिछले कई सालों से खाकी से खादी पहनने का फैशन बढ़ता ही जा रहा है। जहां कई आईपीएस अधिकारियों (IPS Officers) ने रिटायरमेंट के बाद राजनीति में उतरने का काम किया तो कई पुलिस अधिकारियों (Police Officers) ने सरकारी सेवा रिटायर होने के पहले ही वीआएस(VRS) लेकर राजनीति(Politics) में आने का काम किया है।

Kanpur Police Commissioner Asim Arun applied for voluntary retirement  likely to contest assembly election uttar pradesh कानपुर पुलिस कमिश्नर असीम  अरुण ने मांगा VRS, बीजेपी के टिकट पर लड़ सकते हैं ...

असीम अरूण

हाल ही में कानपुर के पुलिस कमिश्नर असीम अरुण (Kanpur Police Commissioner Aseem Arun) ने वीआरएस (स्वैच्छिक सेवा निवृत्त) लेकर विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) में उतरने का मन बनाया है। हांलाकि अभी तक उन्होंने किसी दल का दामन नहीं थामा है लेकिन जल्द ही वह भाजपा (BJP) में शामिल होकर अपने गृह नगर कन्नौज (Kannauj) से चुनाव लड़ने को तैयार हैं। खाकी छोड़कर खादी के प्रति आकर्षित होने वाले असीम अरूण(Asim Arun) कोई पहले पुलिस अधिकारी नहीं हैं उनके पहले कई अधिकारी राजनीति के मैदान में अपनी किस्मत आजमा चुके हैं।

Khaki In Politics। news in hindi today। police officers in politics। IPS  officers in politics। Kanpur Police Commissioner Aseem Arun। UP Election  2022। UP Politics। taja khabar aaj ki uttar pradesh 2022 |

यूपी में डीजीपी रहे बृजलाल, एके जैन के अलावा श्रीष चन्द्र दीक्षित ने भी राजनीति का थामा दामन

यूपी में डीजीपी(DGP) रहे बृजलाल (Brijlal was DGP) एके जैन(A K Jain) के अलावा श्रीष चन्द्र दीक्षित(Shrish Chandra Dixit) इसके प्रत्यक्ष उदाहरण है। प्रदेश के डीजीपी(DGP) रहे श्रीश चन्द्र दीक्षित(Shrish Chandra Dixit) भाजपा(BJP) से 1919 में सांसद रहे। भाजपा(BJP) ज्वाइन करने वाले पूर्व डीजीपी (होमगार्ड) सूर्य कुमार शुक्ला(Surya Kumar Shukla) को कोई राजनीतिक पद नहीं मिला है। बृजलाल(Brijlal) तो भाजपा(BJP) के राज्यसभा सदस्य(Rajya Sabha Member) भी हैं। एक और डीजीपी यशपाल सिंह(DGP YashPal Singh) ने भी 2012 के विधानसभा चुनाव(Assembly Elections) से पहले अप्रैल 2011में पीस पार्टी का दामन थामा था। उन्होंने पीस पार्टी की सदस्यता भी ली लेकिन उन्हे राजनीति कुछ खास रास नहीं आई।

खाकी पर भारी खादीः राजनीति में बढ़ती दिलचस्पी, एक और अधिकारी कतार में |  News Track in Hindi

केरल के एडीजी रहे राजबहादुर

केरल के एडीजी(ADG) रहे राजबहादुर(Raj Bahadur) भी लखनऊ(Lucknow) की सरोजनीनगर विधानसभा(Sarojininagar Assembly) सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अपना भाग्य आजमा चुके है। जबकि डिप्टी एडीजी(Dypt ADG) रहे मंजूर अहमद(Manzoor Ahmad) ने कांग्रेस(Congress) और बसपा(BSP) दोनों दलों में रहकर मेयर और विधायकी का चुनाव लड़े और दोनों चुनावों(Election) में शिकस्त का सामना करने के बाद राजनीति(Politcs) से तौबा कर ली। एडीजी(ADG) रहे मनोज कुमार सिंह(Manoj Kumar Singh) भी 2011 में कांग्रेस(Congress) में शामिल हुए लेकिन कई प्रयास के बाद भी उन्हे टिकट नहीं मिला।

Suvrat Tripathi Mobile no 6393615553 (@ips_suvrat) / Twitter

एडीजी सुब्रत त्रिपाठी

एडीजी सुब्रत त्रिपाठी(ADG Subrat Tripathi) ने किसी दल में शामिल होने के बजाय अपनी ही पार्टी 'मनुवादी पार्टी'(Manuvadi Party) बनाई। चुनावी राजनीति(Election Politics) में न सही लेकिन अपनी पार्टी के जरिए वे राजनीतिक(Politics) गतिविधियों में हमेशा सक्रिय रहते है। आईजी(IG) रहे एसआर दारापुरी(SR Dadapuri) भी अपना दल(Apna Dal) बना चुके है। राबर्ट्सगंज(Robertsganj) से सांसदी और उससे पूर्व शाहाबाद से विधायकी का चुनाव भी लड़े लेकिन सफल नहीं हुए। आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट(All India People's Front) में रहकर दारापुरी राजनीतिक(Darapuri Political) गतिविधियों में सक्रिय रहते है।

Khaki In Politics। news in hindi today। police officers in politics। IPS  officers in politics। Kanpur Police Commissioner Aseem Arun। UP Election  2022। UP Politics। taja khabar aaj ki uttar pradesh 2022 |

चुनावी मैदान में उतरे थे अमरदत्त मिश्र

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की सरकार में पुलिस महानिरीक्षक(ADG) रह चुके अमरदत्त मिश्र(Amar Datt Mishra) ने रिटायर होने के बाद विधानसभा चुनाव(Assembly Election) भदोही(Bhadohi) से लड़ा लेकिन पराजित हुए। जबकि डीआईजी(DIG) रहे सीएम प्रसाद(CM Prashad) सोनभद्र की दुद्वी विधानसभा से जीतकर विधानसभा पहुंचे।

प्रो. एसपी सिंह बघेल ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा, तो मुख्यमंत्री योगी  आदित्यनाथ ने कही ये बात, देखें वीडियो | SP Singh baghel resigned from Uttar  Pradesh yogi ...

प्रो.एसपी सिंह बघेल

बात केवल यहीं तक सीमित नहीं है। राजनेताओं के साथ में रहकर भी कई लोगों को राजनीति रास आ गयी। सपा बसपा से सांसद- विधायक रहे उमाकांत यादव(Umakant Yadav) पुलिस की नौकरी से बर्खास्त होने के बाद राजनीति में आए। पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव(Mulayan Singh Yadav) के सुरक्षाकर्मी रहे प्रो.एसपी सिंह बघेल(Pro. SP Singh Baghel) कभी लोकसभा(Loksabha) तो कभी राज्य सभा(Rajya Sabha) के सदस्य बनते रहे।

कमांडो कमल किशोर ने सपा, बसपा के ऑफर को ठुकराया! | Commando Kamal Kishore  turned down the offer of SP, BSP! | कमांडो कमल किशोर ने सपा, बसपा के ऑफर को  ठुकराया!

कमल किशोर कमांडों

इसी तरह पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Prime Minister Rajiv Gandhi) के सुरक्षा में रहे कमल किशोर(Kamal Kishor) कमांडों कांग्रेस(Congress) के टिकट पर लोकसभा में अपनी आमद दर्ज करा चुके है।

Ahmad Hasan Coment On Media - ये किसे 'काली भेड़' बोल गए अहमद हसन? - Amar  Ujala Hindi News Live

अहमद हसन

सपा सरकार(SP Govt) में कैबिनेट मंत्री रहे अहमद हसन(Ahmad Hasan) रिटायर होने के बाद से समाजवादी पार्टी(Samajwadi Patrty) की राजनीति में सक्रिय होकर लगातार विधानपरिषद के सदस्य पद पर बने हुए हैं। इसी तरह से यूपी कैडर के एक आईपीएस अधिकारी दावा शेरपा(Dawa Sherpa) राजभवन में एडीसी(ADC) रहने के बाद नौकरी छोडकर अपने गृहराज्य मेघालय चले गए जहां पर दार्जिलिग से चुनाव लड़े पर वह चुनाव हार गए और राजनीति से किनारा कर लिया।

भाजपा सांसद सत्‍यपाल सिंह के घर पर चल रहा था देह व्‍यापार का धंधा | Ongoing  flesh trade racket at BJP MP Satyapal Singh's flat busted in Mumbai - Hindi  Oneindia

सत्यपाल सिंह

मुंबई(Mumbai) के पुलिस कमिश्नर(Police Comminnsor) रहे सत्यपाल सिंह(Satyapal Singh) बागपत(Bagpat) से भाजपा(BJP) के टिकट पर चुनाव लड़े और जीतकर मोदी सरकार(Modi Gvernment) में मंत्री भी बने। फैजाबाद(Faizabad) के एसएसपी(SSP) रहे डीबी राय(DB Rai) भाजपा(BJP) के टिकट से दो बार लोकसभा(Loksabha) पहुंच चुके है। सपा सरकार(SP Govt) में एसटीएफ(STF) से इस्तीफा देकर पीपीएस अधिकारी शैलेन्द्र सिंह(PPS Officers Shailendra Singh) ने चंदौली(Chandauli) ने लोकसभा(Loksabha) और विधानसभा चुनाव(Assembly Elections) लड़ा लेकिन हार गए।

मुख्य संवाददाता

HARSH PANDEY

Police Media News

Leave a comment