Smart Policing

Uttarakhand Election 2022: उत्तर प्रदेश की सीमाओं पर डटे पुलिस के जवान, हर गतिविधियों पर रखी जा रही नजर

Uttarakhand Election 2022: उत्तर प्रदेश की सीमाओं पर डटे पुलिस के जवान, हर गतिविधियों पर रखी जा रही नजर

उत्तराखंड (Uttarakhand) में विधानसभा चुनाव (Assembly elections) की तारीख का एलान होने के बाद चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न कराना पुलिस के लिए हर बार चुनौतीपूर्ण रहता है। अपराधियों के खिलाफ गुंडा व गैंगस्टर एक्ट में कार्रवाई कर जिला बदर किया जा रहा है। माहौल खराब करने वालों पर भी नजर रखी जा रही है। उत्तराखंड व यूपी से सटी ऊधमसिंह नगर व नैनीताल की 51 सीमाओं पर पुलिस तैनात कर दी गई है। यूपी से आने वाले प्रत्येक वाहन की तलाशी लेने के बाद वाहन सवारों की एंट्री की जा रही है। ताकि उनकी गतिविधि की निगरानी हो सके। 

सी-विजिल एप पर करें शिकायत 

आपको बता दें कि, डीआइजी कैंप कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार कुमाऊं के सभी जिलों में पैरामिलिट्री फोर्स तैनात कर दी हैं। संदिग्ध स्थानों पर फ्लैगमार्च निकालकर अलर्ट किया जा रहा है। दरअसल, सीमाओं पर रिकार्ड दर्ज करने में लापरवाही बरतने पर पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी। डीआइजी ने दो टूक कहा है, संदिग्ध वस्तु या नशा सीमा से पार पहुंचा तो संबंधित सीमा पर तैनात कर्मचारी जिम्मेदार रहेगा। भारत निर्वाचन आयोग ने मोबाइल एप सी विजिल को अपडेट कर दिया है। यह एप मतदान के एक दिन बाद तक बना रहेगा। डीआइजी डा. नीलेश आनंद भरणे ने बताया कि कोई भी व्यक्ति इस एप के जरिये कहीं भी आचार संहिता के उल्लंघन की जानकारी दे सकेगा। सी विजिल एप चुनावी गड़बडिय़ों पर तत्काल लगाम लगाने में सहायक होगा। 

थानों में बनेगा चुनाव रजिस्टर 

यह एप सिर्फ चुनाव की घोषणा वाले स्थानों पर ही काम करेगा। एप का बीटा वर्जन लोगों व चुनाव कर्मियों के लिए उपलब्ध होगा। जिससे वह इसके बारे में जानकारी जुटा सकेंगे। इस एप के आने से नागरिकों को चुनाव के संबंध में शिकायत दर्ज कराने के लिए निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी। एप की मानीटङ्क्षरग निर्वाचन आयोग ही करेगा। कुमाऊं के सभी थानों में चुनाव रजिस्टर बनाया जाएगा। इसमें आचार संहिता के दौरान घटित सभी शिकायतें दर्ज की जाएंगी। रजिस्टर में दर्ज होने वाली शिकायतों की डीआइजी कैंप कार्यालय से मानीटङ्क्षरग की जाएगी। रजिस्टर में थाना क्षेत्र के सभी जनप्रतिनिधियों व प्रशासनिक अधिकारियों के नाम व मोबाइल नंबर भी दर्ज होंगे।

संवाददाता

MEGHA CHAUHAN

Police Media News

Leave a comment