Khaki Connection

आगामी 1 सप्ताह यूपी पुलिस के लिए बनेगा चुनौती.... डीजीपी बोले- हालात से निपटने के पुख्ता इंतजाम

आगामी 1 सप्ताह यूपी पुलिस के लिए बनेगा चुनौती.... डीजीपी बोले- हालात से निपटने के पुख्ता इंतजाम

उत्तर प्रदेश पुलिस महकमे के लिए आगामी 1 सप्ताह किसी चुनौती से कम नहीं है। एक और तो त्यौहार दूसरी और किसान आंदोलन तीसरा राजनीतिक दलों की सक्रियता ने पुलिस के लिए चुनौती को और भी ज्यादा बढ़ा दिया है। लगातार सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने के लिए यूपी पुलिस के कंधों पर दारोमदार लगातार बढ़ता ही जा रहा है। यही नहीं त्योहारी मौसम के साथ-साथ आतंकी घटनाओं को लेकर भी खुफिया एजेंसियों का अलर्ट यूपी पुलिस के लिए एक बड़ी समस्या बना हुआ है ऐसे में पुलिस विभाग अपनी ओर से मुस्तैद बना हुआ है। यूपी पुलिस के मुखिया मुकुल गोयल का दावा है, कि हर तरह की चुनौती और हालात से निपटने के लिए पुलिस ने अपनी ओर से कमर कस ली है, पुलिसकर्मियों ने सुरक्षा की पूरी तैयारी कर ली है।

पर्याप्त संख्या में पुलिस बल और अर्ध सैनिक बल की व्यवस्था

डीजीपी मुकुल गोयल का कहना है कि नवरात्र, दशहरा, बारावफात, किसान आंदोलन, एक दिन का विधानसभा का विशेष सत्र का आयोजन होने के साथ-साथ राजनैतिक दलों की रथ यात्रा और धरना प्रदर्शन चल रहे है। ऐसे में पुलिस के लिए सुरक्षा के कड़े इंतेजाम करना एक बड़ी चुनौती है। लेकिन पुलिस के आला अधिकारियों से लेकर विभाग में तैनात मातहतो ने इसके लिए पुख्ता इंतजाम कर लिए हैं। इसके लिए पर्याप्त संख्या में पुलिस बल और अर्ध सैनिक बल की व्यवस्था की गई है। सभी जिलों में सेक्टर स्कीम लागू कर जिम्मेदार अधिकारियों की तैनाती की गई है। डीजीपी के मुताबिक इन दिनों खुफिया एजेंसियों को भी सक्रियता प्रदेश में बड़ गई है। हर छोटी से छोटी घटनाओं पर न सिर्फ नजर रखने के लिए बल्कि स्थानीय स्तर पर आपसी विवादों को लेकर भी पाबंद करने की कार्रवाई की जा रही है।

संवेदनशील जिलों में वरिष्ठ अधिकारियों की तैनाती  

डीजीपी मुकुल गोयल का कहना है कि 15 अक्तूबर को दशहरा और 18 अक्तूबर को विधानसभा का 1 दिन का विशेष सत्र व 19 अक्तूबर को बारावफात का त्यौहार है। वहीं बीते कुछ दिनों पहले लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में हुई हिंसा के बाद से किसान आंदोलन को लेकर भी सक्रियता पहले से ज्यादा बड़ चुकी है, जो एक बड़ी चुनौती है। वहीं कुछ संवेदनशील जिलों में वरिष्ठ अधिकारियों की तैनाती कर अराजक तत्वों पर नजर रखी जा रही है। सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment