Khaki Connection

UP ATS को मिली बड़ी कामयाबी, Saharanpur से जैश-ए-मुहम्मद का आतंकी गिरफ्तार

UP ATS को मिली बड़ी कामयाबी, Saharanpur से जैश-ए-मुहम्मद का आतंकी गिरफ्तार

जहां एक तरफ देश भर में स्वतंत्रता दिवस को लेकर तरह तरह के कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं, सुरक्षा व्यवस्था संभालने के लिए पुलिस के जवानों को मुस्तैद किया गया है। वहीं दूसरी तरफ स्वतंत्रता दिवस के दिन ही देश को दहलाने की साजिश रचने वाले एक आतंकी को यूपी एटीएस ने सहारनपुर से गिरफ्तार किया है। पूछताछ में ये बात सामने आई है कि, ये आतंकी जैश ए मुहम्मद का सदस्य है। पकड़ा गया आतंकी जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान-पाकिस्तान की विचारधारा से प्रभावित होकर फिदायीन हमले की तैयारी कर रहा है। पूछताछ के बाद उसके मोबाइल को भी जब्त किया गया है।

एडीजी ने दी जानकारी 


जानकारी देते हुए एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि सहारनपुर से गिरफ्तार हुए नदीम ने पूछताछ में स्वीकार किया कि उसे जैश-ए-मोहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान के आतंकी ने बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नुपूर शर्मा की हत्या करने का जिम्मा दिया था। नदीम के पास से पुलिस ने एक मोबाइल, दो सिम बरामद किया है। उसके खिलाफ लखनऊ के एटीएस थाने में विधि विरुद्ध क्रियाकलाप (निवारण) अधिनियम यानी यूएपीए समेत सुसंगत धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। 

बम बनाने की प्रक्रिया भी मिली


एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि आतंकी नदीम फिदायीन हमले की तैयारी कर रहा था। उसके पास से जो मोबाइल फ़ोन बरामद किया गया है- उसमें पुलिस को पाकिस्तान और अफगानिस्तान के आतंकियों के साथ उसकी चैटिंग और वॉयस मैसेज मिले हैं। इसके साथ ही पुलिस ने उसके पास से तमाम सामग्री जब्त की है- जिसमें बम बनाने की प्रक्रिया लिखी है।

लगातार मिल रही थी ट्रेनिंग


उसने पूछताछ में खुद बताया कि वह 2018 से जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान-ए-पाकिस्तान के विभिन्न आतंकवादियों से वाट“सएप, टेलीग्राम, आईएमओ, फेसबुक मैसेंजर और क्लब हाउस आदि सोशल मीडिया माध्यमों से संपर्क में था। आतंकवादियों से उसने वर्चुअल नंबर बनाने का प्रशिक्षण प्राप्त किया। मुहम्मद नदीम द्वारा इन आतंकवादियों को लगभग 30 से अधिक वर्चुअल नंबर, वर्चुअल सोशल मीडिया आईडी बनाकर बनाकर उपलब्ध कराए गए थे। साथ ही TTP के आतंकी  सैफुल्ला (पाकिस्तानी) द्वारा मुहम्मद नदीम को फिदायीन हमले के लिए तैयार करने के लिए एक्स्पोसिव कोर्स फिदाइन फोर्स का प्रशिक्षण साहित्य सोशल मीडिया के माध्यम से उपलब्ध कराया गया, जिसको मुहम्मद नदीम ने पढ़ा व इससे सम्बंधित सामग्री को इकठ्ठा करने की फ़िराक में था, जिससे वह किसी सरकारी भवन अथवा पुलिस परिसर पर फिदायीन हमला कर सके।

संवाददाता

Akansha

Police Media News

Leave a comment