Smart Policing

प्रदेश में दिल खोलकर कावड़ियों की सेवा में जुटे हैं यूपी पुलिसकर्मी

प्रदेश में दिल खोलकर कावड़ियों की सेवा में जुटे हैं यूपी पुलिसकर्मी

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में इस समय काशी नगरी में हर ओर केसरियां वस्त्र धारण किए भोले बाबा के जयकारों के साथ कावड़िये दिखाई दे रहे हैं। ऐसे में जहां आम-लोग इन कावड़ियों की सेवा में रात-दिन लगे है। तो वहीं अपराधियों के पीछे भागने वाली खाकी भी इस सेवा में बढ़-चढ़ कर योगदान दे रही है। कांवड़िये भी खाकी की मानवीय तस्वीर से खुश दिखाई दे रहे हैं। ऐसा ही नज़ारा वाराणसी के लक्सा गोदौलिया मार्ग के देखने मिला है। जहां कावड़ियों की सुरक्षा में तैनात एसओ अमित मिश्रा ने पुलिसकर्मियों के साथ शिव भक्तों की सेवा की। इस दौरान जिस कावड़िये के पैरों में छाले दिखे उनको साफ कर दवा लगाई गई। साथ ही कावड़ियों के लिए पानी और खाने का उचित प्रबंध भी किया। इस कार्य में बाबा काशी विश्वनाथ कावड़िया शिविर लक्सा ने उनका पूरा सहयोग भी दिया।

पुलिस का फर्ज है सेवा करना

वाराणसी में इस समय बाबा काशी विश्वनाथ का अभिषेक करने के लिए शिव भक्त कावड़ियों का तांता लगा हुआ है। बाबा भोले की इस नगरी में भगवाधारी वस्त्रों को धारण किए और भोले के जयकारे लगाते हुए कावड़ियों का हुजुम चारों ओर दिखाई दे रहे हैं। आम लोगों द्वारा जगह-जगह इन शिव भक्तों के लिए शिविरों को लगाया गया है। जिसमें कावड़ियों के लिए खान-पान की व्यवस्था की गई है। आम लोगों के साथ पुलिसकर्मी भी रात-दिन इन शिव भक्तों की सेवा में लगे हुए हैं। ठीक ऐसा ही नज़ारा वाराणसी के लक्सा थाना क्षेत्र में देखने को मिला। जहां कावड़ियों की सुरक्षा में जुटे हुए अमित मिश्रा ने लक्सा के गोदौलिया मार्ग पर बने बाबा विश्वनाथ कावड़िया शिविर में पहुंचकर शिव भक्तों की सेवा की। एसओ ने जिस भी कावड़िये के पैर में छाले पड़े हुए थे, उन्हें साफ करने के बाद उनपर दवा लगाई। इस दौरान एसओ ने शिविर में कावड़ियों के लिए खान-पान की भी व्यवस्था की। वहीं मौके पर मौजूद कावड़ियों ने पुलिसकर्मियों के इस मानवीय कार्य की जमकर सराहना की।    

पुलिसिंग का एक पार्ट है सेवा और त्याग

दरअसल, एसओ अमित मिश्रा पहले चौक थाने में तैनात थे। जहां से 4 जुलाई को उनकी लक्सा थाने में पोस्टिंग हुई। एसओ की माने तो पुलिसिंग का एक पार्ट सेवा और त्याग भी है। इनके पैरों में पड़ने वाले छाले और दर्द को अपना लेने से भगवान भी खुश हो जाते हैं। ड्यूटी के दौरान इनके कष्टों को दुर करने का सेवा भाव मन में आया। वहीं कांस्टेबल शिव नारायण के मुताबिक सावन में शिव भक्तों की सेवा करना पुण्य का काम है। 
  

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment