Khaki Connection

UP में तिरंगे का अपमान करने पर होगी बड़ी कार्रवाई, 3 साल की कैद और लगेगा भारी जुर्माना

UP में तिरंगे का अपमान करने पर होगी बड़ी कार्रवाई, 3 साल की कैद और लगेगा भारी जुर्माना

देश अपनी आजादी की 75 वीं वर्षगांठ आजादी के अमृत महोत्सव के  रुप में माना रहा है। जिसके अंतर्गत हर घर तिरंगा अभियान की शुरुआत हुई थी। इस अभियान के अंतर्गत सभी से उनके घरों में तिरंगा लगाने की अपील की गई थी। पर कई जगह देखा जा रहा है कि लोग तिरंगे का सम्मान नहीं कर रहे। यानी कि, तिरंगा के लिए बनाए गए नियमों का पालन नहीं कर रहे। ऐसे में अब यूपी पुलिस के जेसीपी कानून व्यवस्था पीयूष मोर्डिया ने मातहतों के साथ बैठ कर इस संबंध में कड़ी गाइडलाइन जारी की है। उन्होंने ये साफ कर दिया है कि जो भी व्यक्ति तिरंगे का अपमान करेगा उसके खिलाफ पुलिस विभाग कार्रवाई करने में कोताही नहीं बरतेगा।

जेसीपी ने जारी किए निर्देश


जानकारी देते हुए जेसीपी कानून व्यवस्था पीयूष मोर्डिया ने साफ-साफ कहा कि, आजादी के अमृत महोत्सव को मनाने के दौरान राष्ट्रीय ध्वज का पूर्ण सम्मान होना चाहिए। इसका हर हाल में सभी पालन करें और कराएं। अगर कोई राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करने की कोशिश करे तो उस पर तत्काल कड़ी कार्रवाई करें। उन्होंने पुलिसकर्मियों के लिए ये दिशा निर्देश जारी किए हैं कि वो आगे आकर लोगों और बच्चों को झंडा फहराने के नियम बताएं। इसके साथ ही 

कागज के तिरंगा का न करें तिरस्कार


जेसीपी ने आगे कहा कि कागज के बने राष्ट्रीय झंडों को महत्वपूर्ण राष्ट्रीय, सांस्कृतिक और खेलकूद के अवसरों पर हाथ में लेकर हिलाया जा सकता है। समारोह पूरा होने के पश्चात ऐसे कागज के झंडों को न तो विकृत किया जाए और न ही जमीन पर फेंका जाए। ऐसे झंडों का निपटान उनकी मर्यादा के अनुरूप एकांत में किया जाए। अगर कोई नियमों का उल्लंघन करते पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।

राष्ट्रध्वज का अपमान करने पर कड़ी कार्रवाई


- भारतीय राष्ट्रीय ध्वज का घोर अपमान या तिरस्कार करने पर। तीन साल की कारावास, जुर्माना अथवा दोनों।

- किसी व्यक्ति या किसी वस्तु के अभिवादन में राष्ट्रीय ध्वज को झुकाना। तीन साल की कारावास, जुर्माना अथवा दोनों।

- भवनों पर राष्ट्रीय ध्वज को झुका हुआ फहराना। तीन साल की कारावास, जुर्माना अथवा दोनों।

- सशस्त्र बलों या अन्य पैरा सैन्य बलों की अंत्येष्टियों के अलावा प्रयोग करना। तीन साल की कारावास, जुर्माना अथवा दोनों।

- किसी व्यक्ति के कमर के नीचे पहनना। रुमाल, नैपकीन में छपाई कराकर उपयोग करना। तीन साल की कैद, जुर्माना अथवा दोनों।

- किसी प्रतिमा, स्मारक, वक्ता की डैस्क या वक्ता के मंच को ढकने के लिए उपयोग करना। तीन साल की कैद, जुर्माना, दोनों।

- किसी भवन को ढकने के लिए उपयोग करना। तीन साल की कारावास, जुर्माना अथवा दोनों।

- राष्ट्रीय ध्वज के केसरिया रंग का नीचे को नीचे की ओर प्रदर्शित करना। तीन साल की कारावास, जुर्माना अथवा दोनों।

संवाददाता

HIMANSHU GARG

Police Media News

Leave a comment