Crime

अलीगढ़ में FIR दर्ज होने के बाद बुलंदशहर के निलंबित इंस्पेक्टर अजय से पूछताछ शुरू

अलीगढ़ में FIR दर्ज होने के बाद बुलंदशहर के निलंबित इंस्पेक्टर अजय से पूछताछ शुरू

बुलंदशहर कोतवाली के निलंबित इंस्पेक्टर के विरुद्ध बैठायी गई जांच दिन-ब-दिन आगे बढ़ रही है जांच के पहले दिन पीड़ित व अन्य लोगों के बयान दर्ज किए गए है। साथ ही अन्य पहलुओं पर जांच पड़ताल की जा रही है। पुलिस ने मौके पर जाकर सीसीटीवी खंगाले। अब निलंबित इंस्पेक्टर के बयान दर्ज करने की तैयारी की जा रही है। इंस्पेक्टर पर अलीगढ़ में बगैर अनुमति के आकर उद्यमी का अपहरण कर मारपीट का आरोप है। मामले में उनके विरुद्ध हरदुआगंज थाने में अपहरण समेत अन्य संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

यह है पूरा मामला

तालानगरी सेक्टर एक में अभिषेक तिवारी की नेहा फूड़ के नाम से फैक्ट्री है। गुरुवार रात एक स्कॉरपियों फैक्ट्री के बाहर आकर रुकी। कार से आठ-दस लोग उतरे और अभिषेक तिवारी को बाहर बुलाकर मारपीट करने लगे। अभिषेक ने विरोध किया तो राजीव शर्मा नाम के व्यक्ति ने उन पर रिवाल्वर तान दी। साथ में आये बुलंदशहर कोतवाली में तैनात इंस्पेक्टर अजय यादव समेत अन्य लोगों ने उसके गुप्तांग पर लात मारते हुए गाडी में डाल लिया। यह नजारा देख स्थानीय लोगों ने आनन फानन में चौकी प्रभारी हरेंद्र को सूचना दी। चौकी प्रभारी ने सड़क पर बाइक लगाकर रोकने का प्रयास किया लेकिन आरोपियों के साथ मौजूद अजय कुमार नामक व्यक्ति ने खुद को बुलन्दशहर कोतवाली इंस्पेक्टर बताते हुऐ पुलिस कार्यवाही बताकर चौकी प्रभारी को हटा दिया और अगवा कर बुलन्दशहर की ओर ले गये। आरोप है कि रास्ते में सभी लोगों ने पीड़ित के साथ बुरी तरह से मारपीट की। परिजनों ने मेरठ आईजी से संपर्क किया तो विभागीय मामले में स्वयं को फंसता देख और पुलिस के आला अधिकारीयों के फोन बजने के बाद आरोपी इंस्पेक्टर स्कॉरपियों को कई घंटें बाद वापस हरदुआगंज थाने लाया और अभिषेक को फेंककर फरार हो गया।

आईजी ने किया हस्तक्षेप तो हुए निलंबित

अलीगढ़ पुलिस से रात करीब ढ़ाई बजे पीडित ने तीन नामजद राजीव शर्मा, अमित अरोड़ा, अजय कुमार समेत आठ अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। वहीं आईजी के हस्तक्षेप के बाद बुलंदशहर के एसएसपी ने इंस्पेक्टर को दोषी मानते हुए तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया कर दिया था।

संवाददाता

JYOTI MEHRA

Police Media News

Leave a comment