Others

विधानसभा चुनाव 2022: सत्ता के गलियारे उस वक्त हो गए थे गर्म, जब मायावती की जूती को DSP पदम सिंह ने किया था साफ

विधानसभा चुनाव 2022: सत्ता के गलियारे उस वक्त हो गए थे गर्म, जब मायावती की जूती को DSP पदम सिंह ने किया था साफ

विधानसभा चुनाव(Assembly Elections) के प्रथम चरण के वोटिंग में महज बहुत ही कम दिन बचे हैं। भीषण ठंड में सत्ता गलियारे से गर्म गर्म कहानियां निकल रही हैं। विधानसभा चुनाव(Assembly Elections) में प्रमुख भूमिका और बड़े स्तर पर दावेदारी पेश कर रही उत्तर प्रदेश(Uttar Pradesh) की पूर्व मुख्यमंत्री(Ex Chief Minister) से जुड़ी एक कहानी हमेशा से चर्चा का विषय बना हुआ है, और आशा है कि जब जब मायावती(Mayawati) और पुलिस(UP Police) का नाम एक साथ  लिया जाएगा, तब तब ये कहानी लोगों के जुबान पर होगी।


मायावती और पुलिस

मायावती(Mayawati) उत्तर प्रदेश(Uttar Pradesh) की मुख्यमंत्री(Chief Minister) रह चुकी हैं। कहा जाता है कि योगी सरकार(Yogi Govt.) से पहले मायावती(Mayawati) की बसपा (BSP) सरकार के वक्त पुलिस(UP Police) का इकबाल बुलंद रहता था, पुलिस(UP Police) बिना राजनीतिक दबाव के लॉ एंड ऑर्डर(law & Order) का पालन कराती थी। लेकिन इस सभी के बावजूद मायावती(Mayawati) हमेशा विवादों में रही, या कहा जा सकता है कि विपक्ष ने हमेशा मायावती(Mayawati) को अपने हाशिए पर रखा, चाहे वह गेस्ट हाउस कांड(Guest House Case) हो, या लाखों रुपए के नोट की माला पहनने का, या फिर कभी जन्मदिन पर चंदा इकट्ठा करने के लिए, या अपनी मुर्ति या पार्कों के निर्माण के लिए।


मायावती और मुलायम सिंह यादव

बहरहाल, मायावती(Mayawati) की मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav)संग दुश्मनी हमेशा चर्चा का विषय रहा है। मायावती(Mayawati) और पुलिस(UP Police) की कहानी का जिक्र करें, तो एक बार तो उनकी सुरक्षा में तैनात डीएसपी(DSP) लेवल का पुलिस अधिकारी सबके सामने उनकी जूती(Shoe) साफ करने लगा था। इस मामले के बाद भी मायावती(Mayawati) जमकर ट्रोल(Troll) की गई थी।



औरैया दौरे पर थीं मायावती

पूरा मामला मायावती(Mayawati) के कार्यकाल, सन् 2011 का है बतौर मुख्यमंत्री(Chief Minister) वे प्रदेश(Uttar Pradesh) के औरैया जिले(Auraiya) के दौरे पर थीं। प्रत्यक्षदर्शी बताते हैं कि मायावती(Mayawati) का हेलीकॉप्टर जैसे ही हेलीपैड पर उतरा सुरक्षाकर्मियों(Security Guard) ने उसे घेर लिया। सुरक्षाकर्मियों(Security Guard) में मायावती(Mayawati) के मुख्य सुरक्षा सचिव डीएसपी पदम सिंह(DSP Padam Singh) भी मौजूद थे।


डीएसपी पदम सिंह ने साफ की थी मायावती की जूती

जैसे ही मायावती(Mayawati) हेलीकॉप्टर से उतर कर आगे की ओर बढ़ी तभी पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं ने उन्हें घेर लिया और उनसे बात करने लगे। इस दौरान डीएसपी पदम सिंह(DSP Padam Singh) ने अपनी जेब से रूमाल निकाला और झुककर मायावती(Mayawati) की जूती साफ करने लगे। थोड़ी देर बाद जूती साफ करने के बाद डीएसपी पदम सिंह(DSP Padam Singh) ने रूमाल वापस अपनी जेब में रख लिया। इस दौरान मायावती(Mayawati) को छोड़ सब उन्हीं की तरफ देख रहे थे। हतप्रद होकर सभी लोग मायावती(Mayawati) की ओर देख रहे थे, लेकिन उस वक्त मायावती(Mayawati) ने अपनी जूती साफ कर रहे अधिकारी की तरफ एक नजर देखना भी जरूरी नहीं समझा था।

मायावती पर विपक्ष का हमला

इस मामले के बाद मायावती(Mayawati), सरकार(Govt.) और पुलिस महकमे(Police Department) की अच्छी खासी फजीहत हुई थी। मामला आसमान छूने लगा तो मायावती(Mayawati) और उनकी सरकार की किरकिरी होने लगी। सपा ने मायावती(Mayawati) पर आरोप लगाते हुए बसपा सरकार(BSP Govt.) को राजतंत्र बताया तो वहीं कांग्रेस(Congress) ने हल्लाबोल करते हुए पुलिस पर बसपा प्रमुख(BSP Chief) की गुंडई बताया था। हालांकि तब की यूपी सरकार(UP Govt.) ने इस पूरे मामले को सामान्य बताते हुए विवाद से पल्ला झाड़ लिया था। सरकार(UP Govt.)  की ओर से सफाई पेश करते हुए कहा गया कि पदम सिंह(DSP Padam Singh) ने जो कुछ किया वह कोई नया और अनोखा नहीं था। उन्होंने उस दौरान सिर्फ अपनी ‘ड्यूटी’ निभाई थी।

मुख्य संवाददाता

HARSH PANDEY

Police Media News

Leave a comment