Smart Policing

कभी भूखे को खाना तो कभी जरूरतमंद का सहारा... जानिए 2 महिला कांस्टेबल ने कैसे मासूम को दिया मां का दुलारा

कभी भूखे को खाना तो कभी जरूरतमंद का सहारा... जानिए 2 महिला कांस्टेबल ने कैसे मासूम को दिया मां का दुलारा

देशभर में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है ऐसे में लोग समाजिक दूरी के नियमों का पालन करते हुए घरों में कैद रहने को मजबुर है। संक्रमण के कारण मौत के आंकड़े भी काफी बड़ गए है, लेकिन महाराष्‍ट्र के पुणे शहर से इंसानियत का दम तोड़ता हुआ मामला सामने आया। जहां एक घर में 2 दिन से मृत पड़ी महिला के शव के पास उसका डेढ़ साल का बच्चा रोता रहा, लेकिन शर्म की बात तो यह है कि उस बच्चे की आवाज सुनने के बाद कोरोना वायरस और बीमारी के डर से कोई भी उसके पास तक ना गया। लेकिन सूचना मिलने पर यहां पर भी हर बार की तरह खाकीधारियों ने अपनी ड्यूटी के साथ इंसानियत के  फर्ज को निभाया। बता दें कि मौके पर पुलिस टीम के साथ पहुंची 2 महिला कांस्‍टेबलों ने बच्चे को मां के शव के पास से उठाकर के मां की जिम्मेदारी निभाई।

कोरोना से जताई मौत की आशंका


महाराष्‍ट्र के पुणे में स्थित पिंपरी-चिंचवड के दिघी इलाके में रहने वाली व मूल रूप से यूपी की निवासी एक महिला सरस्वती राजेश कुमार की मौत हो गई। लेकिम मामले में इंसानियत को शर्मसार करने वाले बात तो यह रही कि सरस्वती की मौत के बाद उसका डेढ़ साल का बच्चा घर में अकेले मां के शव के पास ही रोता रहा, आस पास के लोगों को बच्चे की रोने की आवाजे आती रही लेकिन कोरोना के डर से किसी ने भी महिला और उनके बच्चे को हाथ नहीं लगाया। मौके पर ही मौजूद लोगों में से किसी ने पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही पिंपरी चिंचवड़ पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। महिला कांस्‍टेबल सुशीला गभाले और रेखा वजे ने रोते बिलखते हुए मासूम को तुरंत ही गोद में उठाया। पुलिस ने और उसके लिए मां की जिम्मेदारी निभाई। पुलिस ने बताया कि उन्हें महिला का शव बीते सोमवार को मिला था।  लेकिन उसकी मौत की संभावना दो दिन पहले की बताई जा रही है। 

क्या कहा महिला कांस्टेबल ने 


मृत महिला के बच्चे को संभालने वाली महिला पुलिस कांस्‍टेबलों ने मिलकर बच्चे को दूध पिलाया। महिला कांस्टेबल सुशीला गभाले ने बताया कि 'मैं भी दो बच्चों की मां हूं, एक 8 और दूसरा 6 साल का है। ये बच्चा मुझे अपना लगा, जब मैं उसे चम्मच से दूध पिला रही थी तो वह बहुत जल्दी-जल्दी पी रहा था, बच्चा भूखा था।' महिला कांस्‍टेबल रेखा वजे ने कहा, 'बच्चे को थोड़ा बुखार था। हमने जब डॉक्टर को दिखाया तो उन्होंने बताया इसको अच्छे से खिलाओ-पिलाओ। बाकी सब ठीक है। बच्चे की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है। 

लेखक

Madhavi Tanwar

Police Media News

Leave a comment