Others

Seema Kushwaha : बहुजन समाज पार्टी में शामिल होंगी निर्भया केस की वकील... जानिए वजह

Seema Kushwaha : बहुजन समाज पार्टी में शामिल होंगी निर्भया केस की वकील... जानिए वजह

आगामी विधानसभा चुनावों (UP Elections 2022) की तैयारियों के चलते कई नए बदलाव देखे जा सकते है। इसी क्रम में एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां निर्भया कांड(Nirbhaya Case) में इंसाफ दिलाने वाली वकील सीमा समृद्धि कुशवाहा (Seema Samridhi Kushwaha) अब राजनीति से जुड़ने वाली है। बता दें कि, वह बहुजन समाज पार्टी (BSP) में शामिल होकर उत्तर प्रदेश (Uttar pradesh) से चुनाव लड़ सकती हैं। 
 

सीमा समृद्धि कुशवाहा ने दी जानकारी 

आपको बता दें कि, सीमा कुशवाहा  (Seema kushwaha) ने इस संदर्भ में जानकारी देते हुए कहा कि, दलितो के हित के लिए वह बहुजन समाज पार्टी(BSP) में शामिल होने जा रहीं हैं। इसके साथ ही वो कमजोर वर्ग को इंसाफ दिलाने के लिए हमेशा काम करती रहेंगी। बता दें कि, 20 जनवरी को लखनऊ (Lucknow) में बहुजन समाज पार्टी (BSP)की सदस्यता लेंगी। 

जानिए कौन है सीमा समृद्धि कुशवाहा 

दरअसल, सीमा समृद्धि कुशवाहा(Seema samridhi kushwaha) उत्तर प्रदेश(UP) के इटावा (Itawa) की रहने वाली हैं। कई इंटरव्यू (Interview) के दौरान उन्होंने बताया कि, कैसे उनके यहां लड़कियों को आगे बढ़ने के लिए बहुत सारी परेशानियां झेलनी पड़ती थीं। यहां तक कि सीमा (Seema Kushwaha) ने जब वकालत की पढ़ाई शुरू की तो उनके सामने बहुत सारी मुश्किलें खड़ी हो गई थी। 

इसलिए कानपुर छोड़ आई दिल्ली 

इसके साथ ही उन्होनें बताया कि, लॉ (Law) की डिग्री(degree) लेने के बाद उन्होनें कानपुर (kanpur) से वकालत की ट्रेनिंग शुरू की थी, लेकिन वह महिला वकीलों की हालत बेहद खराब थी। इसलिए उन्हें कानपुर (kanpur) छोड़ दिल्ली आना पड़ा था, जहां उन्होंने सुप्रीम कोर्ट(supreme court) में ट्रेनी वकील के तौर पर काम करना शुरू किया। दरअसल, निर्भया केस (Nirbhaya Case) के वक्त भी सुप्रीम कोर्ट (supreme court) में ट्रेनी वकील के तौर पर ही काम कर रही थी। 

निर्भया के दोषियों को सजा दिलाने की खाई कसम 

सीमा समृद्धि कुशवाहा (Seema samridhi kushwaha) ने बताया कि, एक शोक सभा में जब वह निर्भया (Nirbhaya) के परिवार से मिली, तो उसी दौरान वह बातचीत करते हुए काफी भावुक हो गई। तभी उन्होंने तय कर लिया था कि, वह हर हाल में निर्भया (Nirbhaya) के दोषियों को सजा दिलाकर रहेंगी।जिसके बाद सजा होने तक वह आखरी लड़ाई लड़ती रहीं। बता दें कि, साल 2014 में सीमा कुशवाहा(Seema samridhi kushwaha) ने एक ट्रस्ट भी बनाई थी, जो दुष्कर्म पीड़िताओं को मुफ्त में न्याय दिलाने के लिए अदालत में केस लड़ने का काम करती है। निर्भया केस के साथ हाथरस के रेप केस भी सीमा कुशवाहा ने अपने हाथ में लिया। 

संवाददाता

ISHA GUPTA

Police Media News

Leave a comment