Crime

प्रतापगढ़: माता बनी कुमाता... बेटी को उतारा मौत के घाट, पुलिस भी हुई हैरान

प्रतापगढ़: माता बनी कुमाता... बेटी को उतारा मौत के घाट, पुलिस भी हुई हैरान

प्रतापगढ़ जनपद के कुंडा कोतवाली (Kunda Kotwali) क्षेत्र के रजनपुर में चार साल की बालिका काव्या सरोज की हत्या का पर्दाफाश करते हुए पुलिस (Police) ने सौतेली मां को गिरफ्तार किया है। उसने कुबूला कि सौतेली बेटी काव्या उसे हर बात पर टोकती और कमी निकालती थी जिसकी वजह से वह गुस्से से उफन पड़ी और उसे कुएं में धकेलकर मार डाला। हत्या के इस कारण को जानकर पुलिस भी हैरान है। पुलिस का कहना है कि इतनी सी बात पर बेटी की जान लेनी वाली महिला को सजा मिलना जरूरी है।

कामकाज में निकालती थी कमी 

दरअसल, कत्ल का राजफाश करते हुए कुंडा कोतवाल प्रदीप कुमार सिंह (Kunda Kotwal Pradeep Kumar Singh) ने बताया कि दिनेश कुमार सरोज की तीसरी पत्नी शांति देवी को सौतेली बेटी काव्या को मारकर फेंकने के जुर्म में गिरफ्तार किया। पूछताछ में शांति देवी (Shanti Devi) ने कहा कि काव्या अक्सर उसके कामकाज में कमी निकाला करती थी। बात-बात पर टोक देती और भोजन में भी कुछ न कुछ खामी बता देती थी। शांति इस बात से भी क्रोधित थी कि काव्या कभी उसके मायके भी जाती थी तो मां व भाइयों से भी उसकी तरह -तरह की शिकायत करती रहती थी। फिर मायके वाले उसे इस बारे में बताते तो बहुत खराब लगता था। इस तरह से धीरे धीरे काव्या के प्रति शांति देवी के मन में गुस्सा भरता चला जा रहा था।

कुएं में धकेलकर मार डाला

इसी बीच शांति देवी भी गर्भवती हो गई तब भी काव्या की शिकायतों की वजह से वह परेशान रहती। वह इस सौतेली बेटी को रास्ते से हटाने का मौका खोजने लगी। मंगलवार की शाम काव्या अपने घर के बगल बच्चों के साथ खेल रही थी तभी सौतेली मां शांति देवी उसे बुलाकर ले गई और घर से कुछ दूर स्थित कुएं में धक्का देकर गिरा दिया। इसके बाद वह चुपचाप घर लौट गई। कोई उसकी यह हरकत देख नहीं सका था। दिन भर मजदूरी करने के बाद जब शाम को दिनेश कुमार घर लौटा तो बेटी काव्या के बारे में पूछा। जब वह देर तक घर और आसपास नहीं दिखी तो वह उसकी खोजबीन में निकला। पूरा गांव देख लिया लेकिन काव्या नहीं मिली। इसके बाद अनहोनी की आशंका पर कुओं में देखा जाने लगा। देर रात घर से आधा किलोमीटर दूर उस कुएं में काव्या का शव उतराता दिखा जिसमें उसे धकेला गया था।

पुलिस ने पकड़ा और की पूछताछ

सूचना मिलते ही पहुंची कुंडा पुलिस (Police) ने शव को बाहर निकालने के बाद जब दिनेश से बात की तो उसने पत्नी पर शक जताया क्योंकि उसने काव्या को फटकारते और कई बार उसके बारे में अनाप-शनाप बोलते सुना था। पुलिस ने मुकदमा लिखकर शक के आधार पर शांति देवी को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने अपना गुनाह कुबूल लिया। पुलिस ने बताया कि शांति देवी को अदालत (Court) में पेश किया गया जहां से उसे न्यायिक हिरासत (Judicial Custody) में जेल भेज दिया गया है।

संवाददाता

HIMANSHU GARG

Police Media News

Leave a comment