Super Cop

नन्हे IPS को देखते ही Hapur SP Deepak Bhukar ने छोड़ दी अपनी कुर्सी

नन्हे IPS को देखते ही Hapur SP Deepak Bhukar ने छोड़ दी अपनी कुर्सी

कहते हैं कि बच्चों में अपने जीवन में कुछ कर गुजरने का जज़बा बचपन में ही देखने को मिलता है। अकसर उनकी बाते बड़ों को बता देंती हैं कि वह आगे चलकर क्या बनेगा। ऐसा ही कुछ बीते दिन हापड़ जिले में भी देखने को मिला। जहां एक नन्हें बच्चे की खाकी के प्रति गर्म गर्मजोशी को सलाम किया। दरअसल एसपी दीपक भूकर अपने कार्यालय में बैठकर जनसुनवाई कर रहे थे, उसी दौरान एक नन्हा बच्चा आईपीएस की वर्दी पहले एसपी से मिलने पहुंचा। तो एसपी साहब भी खाकी वर्दी पहने बच्चे को देखते ही अपनी कुर्सी छोड़ने को मजबूर हो गए और उसके स्वागत में खड़े हो गए। इतना ही नहीं एसपी मासूम के साथ खुद भी बच्चे बनकर जमीन पर बैठ गए और उससे साथ बातचीत करने लगे। एसपी ने बच्चे को चॉकलेट देकर उसके उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए बधाई भी दी।

जन सुनवाई में पहुंचा नन्हा आईपीएस

दरअसल हापुड एसपी दीपक भूकर अपने कार्यालय में बैठकर जन सुनवाई कर लोगों की समस्याओं का निस्तारण कर रहे थे। इसी बीच एक युवक के साथ 6 साल का फिरोज उनके ऑफिस में जा पहुंचा। मासूम बच्चे ने खाकी वर्दी पहनी हुई थी। एसपी के सामने पहुंचते ही मासूम ने अपने नन्हे हाथ को उठाते हुए मीठी सी आवाज में जय हिंद कहकर सैल्यूट किया, मासूम के इस जज्बे को देखते ही एसपी दीपक भूकर भी कुर्सी से खड़े हो गए, और उसे अपनी गोद में उठा लिया। एसपी अपने ऑफिस में बच्चे के साथ बातचीत में खुद भी इतने मसरूफ हो गए की वह मासूम के साथ जमीन पर बैठकर ही उससे बात करते रहें। इस दौरान मासूम भी उनसे सवाल जवाब करता रहा। एसपी के पूछने पर अरीब ने बताया कि उसके नाना गाजियाबाद में पुलिस विभाग में दीवान के रूप में तैनात है। जिनके साथ अक्सर वह घूमता रहता है। उसका सपना बड़े होकर आईपीएस बनना है। इस दौरान मासूम अरीब को एसपी ने चॉकलेट देकर विदा किया। एसपी के साथ-साथ मासूम बच्चा वहां मौजूद अन्य कई अधिकरियों से भी मिला।

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment