Smart Policing

मुजफ्फरनगर: डीएम-एसएसपी ने परखी जिला कारागार की व्यवस्था

मुजफ्फरनगर: डीएम-एसएसपी ने परखी जिला कारागार की व्यवस्था

आगामी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के मद्देनजर बुधवार को DM और SSP ने जिला कारागार का औचक निरीक्षण किया। बता दें इस दौरान अधिकारियों ने जेल में कैद राजनीतिक पृष्ठभूमि वाले अपराधियों पर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिए है। इसके साथ ही जेल में किसी भी तरह के फोन कॉल न हो सके इसके लिए जेल में लगी जैमर प्रणाली को भी चेक किया गया।

जेल अफसरों व बंदीरक्षकों को दिए जरूरी दिशा-निर्देश 

बुधवार को DM सेल्वा कुमारी जे और SSP अभिषेक यादव ने जिला कारागार पहुंचकर पहले महिला-पुरुष बैरक और रसोईघर का निरीक्षण किया। वहीं मुलाकाती रजिस्टर की जांच करते हुए बंदियों को दी जा रही सुविधाओं का जायजा लिया। इसके अलावा कोरोना वायरस की दूसरी लहर के मद्देनजर जेल अफसरों को कोविड-19 से बचाव के लिए की गई सभी व्यवस्थाओं को भी परखा। इसके बाद DM, SSP ने जेल अधीक्षक एके सक्सेना व अन्य अफसरों से आगामी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर बातचीत की। इस दौरान अफसरों ने जेल अफसरों को जिला कारागार में विभिन्न मामलों के तहत कैद राजनीतिक पृष्ठभूमि वाले अपराधियों पर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिए हैं। यह अपराधी जेल में रहते हुए अपने क्षेत्र के पंचायत चुनाव को किसी भी तरह की फोन कॉल से प्रभावित न कर सकें, इसको लेकर भी जेल की जैमर व्यवस्था को जांचा गया है। इसके साथ ही जेल अफसरों व बंदीरक्षकों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए गए।

कारतूस संबंधी खरीद-फरोख्त का लिया ब्योरा 

पंचायत चुनाव को ध्यान में रखते हुए बुधवार को सिटी मजिस्ट्रेट अभिषेक सिंह सहित सीओ सिटी कुलदीप सिंह ने भी टीम के साथ नगर क्षेत्र की असलहा की दुकानों का निरीक्षण किया। इस दौरान अफसरों ने नगर क्षेत्र की सभी 11 दुकानों के संचालकों से बीते एक हफ्ते की कारतूस संबंधी खरीद-फरोख्त का ब्योरा लेते हुए उनके स्टॉक रजिस्टर को जांचा। इसके साथ ही दुकानदारों को किसी भी शस्त्रधारक द्वारा निर्धारित संख्या से अधिक कारतूस खरीदे जाने पर इसकी सूचना तत्काल संबंधित थाना पुलिस अथवा अफसरों को देने के निर्देश दिए गए हैं।

संवाददाता

JYOTI MEHRA

Police Media News

Leave a comment