Others

Mukhtar Ansari को जेलकर्मियों पर हमला करने के मामले में 11 अगस्त को होना होगा पेश

Mukhtar Ansari को जेलकर्मियों पर हमला करने के मामले में 11 अगस्त को होना होगा पेश

पंजाब की रूपनगर से उत्तर प्रदेश की बांदा जिला जेल में बंद बाहुबली माफिया मुख्तार अंसारी की मुश्किलें लगातार बड़ती ही जा रही है। लगभग 50 से भी ज्यादा संगीन मामलों में नामजद मऊ से विधायक मुख्तार अंसारी को लखनऊ में 2000 में जेलकर्मियों पर हमले के साथ ही जेल में अराजकता फैलाने के मामले में लखनऊ कोर्ट ने व्यकितगत रूप से पेश होने का निर्देश दिया है।

व्यक्तिगत रुप से पेश होने का आदेश 

साल 2000 में राजधानी लखनऊ जिला जेल में कारापाल व उपकारापाल पर हमला, जेल में पथराव व जानमाल की धमकी देने के मामले में मुल्जिम मुख्तार अंसारी को एमपीएमएलए की विशेष अदालत ने 11 अगस्त को व्यक्तिगत रुप से पेश होने का आदेश दिया है। विशेष जज पवन कुमार राय ने मुख्तार की पेशी के लिए आदेश की एक कॉपी मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव गृह, पुलिस महानिदेशक, पुलिस आयुक्त, लखनऊ व अतिरिक्त महानिदेशक कारागार के साथ ही बांदा जेल के वरिष्ठ अधीक्षक को भी भेजने का आदेश दिया है।

कोर्ट का आदेश

कोर्ट की माने तो मामला 20 साल से लंबित पड़ा हुआ है। इस मामले में मुल्जिम मुख्तार अंसारी पर आरोप तय होना है, लेकिन बार-बार आदेश देने के बाद भी अभियोजन व संबधित थाने के द्वारा रुचि ना लेने के कारण कार्यवाही अग्रसारित नहीं हो पा रही है। बांदा के वरिष्ठ जेल अधीक्षक ने एक अर्जी से अदालत को बताया मुल्जिम को गंभीर बीमारियां हैं, जिसकी वजह से अदालत के समक्ष उपस्थित होने में असमर्थ है। 

जेल अधीक्षक ने दिया आख्यान

उसके विरुद्ध आरोप तय करने की कार्यवाही वीडियो कांफ्रेंसिग से की जाए। विशेष जज ने आदेश में कहा है कि अब अदालत भौतिक रूप से नियमित चलने लगा है। वरिष्ठ जेल अधीक्षक ने अपनी अर्जी में इस बात की कोई आख्या नहीं दी है कि उनके द्वारा मुल्जिम को आरोप विरचन के लिए अदालत में उपस्थित कराया जा सकता है अथवा नहीं। 

11 अगस्त को होना है पेश

इस मामले में मुल्जिम की मात्र पेशी नहीं होनी है बल्कि उस पर आरोप विरचित किया जाना है। इसके बाद 11 अगस्त को एमपी-एमएलए की विशेष अदालत ने कोर्ट में हाजिर करने का आदेश दिया। 

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment