Crime

14 दिन की ज्यूडिशियल कस्टडी में जेल भेजे गए लखीमपुर खीरी हिंसा के आरोपी आशीष मिश्रा, सोमवार को होगी सुनवाई

14 दिन की ज्यूडिशियल कस्टडी में जेल भेजे गए लखीमपुर खीरी हिंसा के आरोपी आशीष मिश्रा, सोमवार को होगी सुनवाई

यूपी के लखीमपुर खीरी मामले में मुख्य आरोपी केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को लंबी पूछताछ के बाद पुलिस अधिकारीयों ने शनिवार देर रात गिरफ्तार कर न्यायलय में पेश किया जहाँ से स्पेशल रिमांड मजिस्ट्रेट के आदेश पर 14 दिन की ज्यूडिशियल कस्टडी में जेल भेज दिया गया. पुलिस ने स्पेशल रिमांड मजिस्ट्रेट दीक्षा भारती की कोर्ट में आशीष से पूछताछ के लिए कस्टडी रिमांड की अर्जी दी. जिसपर सोमवार को सुनवाई होगी. जानकारी के मुताबिक आशीष को हत्या, दुर्घटना में मौत, आपराधिक साजिश और लापरवाही से वाहन चलाने की धाराओं में गिरफ्तारी हुई है.बताया जा रहा है कि कस्टडी रिमांड के दौरान आशीष से सख्ती से पूछताछ होगी. कस्टडी रिमांड के दौरान कारतूसों के बारे में सवाल पूछे जाएंगे.वहीं आशीष के अन्य साथियों से भी पूछताछ होगी.

दंगल में होने के किए वीडियो पेश 

केंद्रीय मंत्री का बेटा आशीष मिश्रा शनिवार को सुबह 10.38 बजे क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंच गया था. क्राइम ब्रांच की ओर से 11 बजे तक पहुंचने के लिए कहा गया था, लेकिन आशीष समय सीमा खत्म होने से 22 मिनट पहले ही पहुंच गया. ख़ास बात यह रही कि आशीष लखीमपुर खीरी सदर विधानसभा के विधायक योगेश वर्मा के साथ स्कूटर से क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंचा. आशीष ने दंगल में होने के वीडियो पेश किए। आशीष से 6 लोगों की टीम ने पूछताछ की। लखीमपुर में क्राइम ब्रांच के दफ्तर में आशीष मिश्रा से मजिस्ट्रेट के सामने सवाल-जवाब किए गए। आशीष अपने वकील के साथ मौजूद रहा। पूछताछ में डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल और लखीमपुर के एसडीएम भी शामिल रहे। आशीष मिश्रा ने अपने पक्ष में कई वीडियो पेश किए। उन्होंने 10 लोगों के बयान का हलफनामा भी पेश किया, जो बताते हैं कि वो काफिले के साथ नहीं था, दंगल मैदान में था।

शुक्रवार को दिन भर क्या-क्या हुआ?

  • मंत्री अजय मिश्र लखनऊ पहुंचे। उन्होंने बेटे आशीष का बचाव किया। कहा, "मेरा बेटा कहीं भागा नहीं है, वह निर्दोष है।" इसके अलावा इस्तीफे की मांग को लेकर अजय मिश्र ने कहा कि विपक्ष का काम ही है इस्तीफा मांगना।
  • अजय मिश्र शुक्रवार को लखनऊ में सांसद-विधायकों और संगठन की मीटिंग में शामिल हुए। उधर, राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने UP सरकार को नोटिस जारी कर लखीमपुर हिंसा की पूरी रिपोर्ट मांगी है।
  • सुप्रीम कोर्ट ने UP सरकार से पूछा कि जब मामला 302 (हत्या) का है तो गिरफ्तारी अब तक क्यों नहीं हुई? सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वह जांच के लिए UP सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से संतुष्ट नहीं है।
  • आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह बहराइच गए। उन्होंने 2 पीड़ित परिवारों से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से उनकी बात करवाई। केजरीवाल ने कहा कि आरोपी अब तक गिरफ्तार नहीं हुए हैं, पूरा देश देख रहा है। लोगों में बहुत गुस्सा है।
  • सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बहराइच में दो पीड़ित परिवारों से मुलाकात की। उन्होंने केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र का इस्तीफा और उनके बेटे की गिरफ्तारी की मांग उठाई।

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment