Others

जानें कौन हैं... केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष जिनपर लखीमपुर मामले में UP POLICE ने की FIR दर्ज

जानें कौन हैं... केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष जिनपर लखीमपुर मामले में UP POLICE ने की FIR दर्ज

लखीमपुर खीरी में किसान आंदोलन के दौरान 9 लोगों की मौत के बाद केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष उर्फ मोनू पर हत्या का मामला दर्ज किया गया है। आशीष पर किसानों को गाड़ी से कुचलने का आरोप पर है। आशीष मंत्री के छोटे बेटे हैं। उन्हें जानने वालों का कहना है कि आशीष शुरू से ही पिता के साथ साथ राजनीति का ककहरा सीखने लगे थे। वे लखीमपुर में पिता का बिजनेस संभालते हैं। परिवार के पेट्रोल पंप और राइस मिल की देखरेख भी आशीष ही करते हैं।

2012 से राजनीति में सक्रिय हुए

जिला पंचायत सदस्य से राजनीति की शुरुआत करने वाले अजय मिश्र टेनी का 2012 में भाजपा से निघासन विधानसभा सीट से टिकट फाइनल हो गया। इसके बाद उनके चुनाव प्रचार की कमान बेटे आशीष ने संभाल ली थी। तब निघासन सीट पर सपा की आंधी के बीच कमल खिला था। अजय मिश्र टेनी ने यहां जोरदार जीत दर्ज की थी। पिता विधायक हुए तो बेटे की सक्रियता भी बढ़ गई।

2017 में आशीष ने की थी टिकट की दावेदारी

2012 में जीते अजय मिश्र पर भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने भरोसा जताते हुए उन्हें 2014 लोकसभा चुनाव का टिकट लखीमपुर से दे दिया। एक बार फिर आशीष सक्रिय हुए और पिता को संसद पहुंचाया। दो चुनाव की कमान संभालने पर आशीष परिपक्व हो चुके थे। 2017 विधानसभा चुनावों में अजय मिश्र ने बेटे के लिए टिकट भी मांगा, लेकिन बात बन नही पाई। हालांकि, टिकट न मिलने के बाद भी वे निघासन क्षेत्र में सक्रिय रहे।

संभावित कैंडिडेट माने जा रहे थे आशीष

2017 में भले ही आशीष को टिकट नही मिला। लेकिन 2019 में अजय मिश्र टेनी को एक बार फिर लोकसभा का टिकट मिल गया। उन्होंने एक बार फिर जोरदार जीत हासिल की। अभी बीते जुलाई में उन पर भाजपा ने भरोसा जताते हुए उन्हें केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल कर लिया। उन्हें गृह राज्यमंत्री बनाया गया। दरअसल, केंद्रीय नेतृत्व के सेंट्रल यूपी में एक अदद ब्राह्मण चेहरे की जरूरत थी। जिसके लिए अजय मुफीद साबित हुए। अजय के मंत्री बनने के साथ ही एक बार फिर 2022 चुनावों में बेटे आशीष के निघासन विधानसभा सीट से भाजपा कैंडिडेट बनने की संभावना बढ़ गई थी।

आरोपों पर क्या बोले पिता अजय ?

हिंसा के बाद अजय मिश्र टेनी ने अपने लखीमपुर शहर स्थित आवास पर पहुंच कर कहा कि कुछ लोग मेरे बेटे पर आरोप लगा रहे हैं। जबकि न तो मैं और न ही मेरा बेटा वहां था। मेरा बेटा आशीष गांव में दंगल कार्यक्रम में था। उस कार्यक्रम में प्रशासनिक अफसर भी रहते हैं। फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी भी होती है।

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment