Others

जानिए क्या है साइबर पोर्नोग्राफी कानून... जिसके तहत मशहूर बिजनेस मैन राज कुंद्रा को किया गया गिरफ्तार

जानिए क्या है साइबर पोर्नोग्राफी कानून... जिसके तहत मशहूर बिजनेस मैन राज कुंद्रा को किया गया गिरफ्तार

देशभर में इन दिनों सोशल मीडिया के साथ-साथ कई नामचीन न्यूज चेनलों व बड़े बड़े समाचार पत्रों पर लीड स्टोरी के तौर पर मशहूर बिजनेस मैन और अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा की गिरफ्तारी चर्चाओं में बई हुई है। हो भी क्यों ना Raj Kundra को मुंबई पुलिस ने Pornography मामले के आरोप में जो गिरफ्तार किया है। मुंबई पुलिस ने दावा किया है कि उनके पास कुंद्रा के खिलाफ कई सारे ठोस सबूत हैं जो उन्हें गुनहगार साबित करते है। दरअसल राज कुंद्रा की गिरफ्तारी अश्लील फिल्म बनाने और उन्हें प्रकाशित करने के आरोपों के तहत हुई है। 

लोगों में भी है इस कानून को जानने की इच्छा

अन्य मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो पोर्नोग्राफी व्यापार को संचालित करने के लिए राज कुंद्रा ने दुबई में ही 1 ऑफिस भी बनाया था। लेकिन बीते दिनों उन्होंने इससे खुद को अलग कर लिया था। कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद से लोगों में पोर्नोग्राफी कानून क्या को जानने की खासा इच्छा है, की आखिर यह कानून है क्या और इसमें दंड का क्या प्रावधान हैं। यहां आपको बता दें कि राज कुंद्रा को साइबर पोर्नोग्राफी कानून के तहत गिरफ्तार किया गया है।

क्या है पोर्नोग्राफी कानून

यहां आपको बता दें  यह वह कानून है, जिसमें साइबर स्पेस का इस्तेमाल कर या उसके जरिए अश्लील परोसने के लिए बनाई गई वीडियों को दिखाना, बांटना, उसको शेयर करना और प्रकाशित करना भी शामिल किया गया है। साइबर स्पेस के आने से परंपरागत अश्लील कंटेट बड़े पैमाने पर ऑनलाइन या डिजिटल पोर्नोग्राफिक कंटेट में बदल गई है। 

क्या कहता है कानून का प्रावधान

दरअसल आपको बता दें कि साइबर पोर्नोग्राफी कई देशों में वैध है तो कई ऐसे भी देश हैं जहां इस पर किसी तरह की कोई रोक नहीं है। भारत के सूचना तकनीकी कानून 2008 अधिनियम के तहत  यहां पर ना तो यह प्रतिबंधित है और ना ही वैध है। लेकिन इसी कानून की धारा 67 के तहत बहुत से कार्य दंडनीय अपराध की श्रेणी में शामिल किए गए हैं, जिसमें 5 साल के कारावास और 10 लाख रुपए जुर्माना तक का प्रावधान है। 

यह सब भी इसी कानून का हैं हिस्सा

कानून के अंतर्गत वेबसाइट पर सामग्री अपलोड करना, Whats app ग्रुप या किसी अन्य डिजिटल पोर्टल पर अपलोड करना जहां थर्ड पार्टी इस तरह के कटेंट को देख सकती हैं, इसके प्रसारण में ईमेल, मैसेजिंग, व्हाट्सऐप या किसी व्यक्ति को किसी भी तरह के डिजिटल मीडिया में अश्लील तस्वीरें, वीडियो या तस्वीरें भेजना भी इसी कानून के तहत शामिल किया गया है।

कितनी होती है सजा
पोर्नोग्राफी के तहत आने वाले मामलों में आईटी कानून 2008 की धारा 67 (ए) और 292, 293, 294, 500, 506 व 509 के तहत सजा का प्रावधान है। अपराध की गंभीरता के अनुसार पहली गलती पर 5 साल तक जेल या 10 लाख रुपए तक का जुर्माना लग सकता है। मगर दूसरी बार ऐसा करने पर जेल की सजा बढ़कर सात साल तक हो सकती है।

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment