Smart Policing

खाकी ने पेश की मानवता की मिसाल... 2 परिवारों को टूटने से बचाया, चौकी में पुलिस के सामने एक दूसरे को खिलाई मिठाई

खाकी ने पेश की मानवता की मिसाल... 2 परिवारों को टूटने से बचाया, चौकी में पुलिस के सामने एक दूसरे को खिलाई मिठाई

यूं तो यूपी पुलिस हमेशा पुलिस से ही अपने द्वारा किए गए अच्छे कार्यों को लेकर सुर्खियों में आ ही जाती है। कभी किसी गरीब की बेटी का कन्यादान कर तो कभी किसी बुजुर्ग का बेटा व बेसहारा का सहारा बनकर अपनी इंसानियत भरे कार्यों से छाई रहती है। ऐसा ही मामला मेरठ से सामने आया है। जहां अवैध संबंधों के संदेह होने पर 22 साल पुराने रिश्ता टूटने की कगार पर पहुंच गया था। ऐसे में पत्नी ने चौकी में पहुंचकर पति के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। दंपती के साथ दूसरे परिवार को भी टूटते देख पुलिस ने बीच बचाव करने आ पहुंची और दोनों परिवार को बैठाकर समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया। इसके बाद दंपती ने एक-दूसरे को पुलिसकर्मियों के सामने ही मिठाई खिलाई और अपने रिश्ते को टूटने से बचाया।

क्या है पूरा मामला 

मेरठ के इंचौली थानाक्षेत्र के चिंदौड़ी गांव में रहने वाले युवक की 22 साल पहले शादी हुई थी। शादी के बाद दोनों के 3 बच्चे हुए। इसी बीच युवक का गांव में ही रहने वाली दूसरे धर्म की महिला के साथ प्रेम प्रसंग बड़ गया। महिला पहले से शादीशुदा है और उसके 4 बच्चे हैं। पति का किसी अन्य महिला के साथ जानकारी होने पर दोनों परिवार के दंपती में मनमुटाव होने लगा और रिश्ता टूटने की कगार तक आ पहुंचा। सोमवार को अवैध संबंध का आरोप लगाते हुए महिला का अपने पति के साथ झगड़ा हुआ। विवाद इतना बढ़ गया कि पत्नी ने पीआरवी को मामले की जानकारी दी। सूचना मिलने ही पुलिस दंपती को लावड़ चौकी लेकर आई। दोनों ने 1 दूसरे पर जमकर आरोप लगाते हुए अलग होने का फैंसला किया। मासूम बच्चे माता पिता को लड़ते देखते रहे। मासूम बच्चों को देख पुलिस ने मध्यस्था करने का फैंसला लेकर समझा बुझाकर मामला शांत कराया। पुलिस ने जैसे तैसे दोनों परिवारों का निपटारा कराया। इसके बाद चौकी में ही दंपती ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाई और भविष्य में कभी भी अलग न होने का निर्णय लिया। 

पुलिस ने किया एक

आमतौर पर खाकी के गलत कार्यों की चर्चा होती है, लेकिन मंगलवार यानी आज पुलिस का मानवीय चेहरा सामने आने के बाद 2 परिवारों को आपस में टूटने से बचा लिया गया। क्षेत्र में भी पुलिस की इस कार्यवाही की जमकर सराहना हो रही है। चौकी प्रभारी प्रवीन चौधरी ने जानकारी देते हुए बताया कि दंपती अलग होने का निर्णय बना चुके थे। ऐसे में दोनों परिवार के 7 मासूम बच्चों का सवाल था। जिस पर पुलिस ने अहम भूमिका निभाते हुए दोनों परिवारों को टूटने से बचाया।

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment