Khaki Connection

कानपुर: विधायक-दरोगा की तू-तू, मैं-मैं.. विधायक बोले-मैं डकैत हूं क्या, दरोगा ने कहा-ट्रांसफर कर दो, जानें क्या है मामला..

कानपुर: विधायक-दरोगा की तू-तू, मैं-मैं.. विधायक बोले-मैं डकैत हूं क्या, दरोगा ने कहा-ट्रांसफर कर दो, जानें क्या है मामला..

उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) जिले के शिवराजपुर थाने का एक वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर काफी वायरल हो रहा है। बता दें वायरल वीडियो (Viral Video) में बिल्हौर भाजपा विधायक मोहित सोनकर (BJP MLA Mohit Sonkar) और दरोगा हरीश यादव नजर आ रहे है, साथ ही इसमें विधायक दरोगा पर एक मामले में आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई न करने पर नाराजगी जताते हुए दरोगा (Inspector) से यह कहते नजर आ रहे कि क्या मैं डकैत हूं... इस पर दरोगा विधायक जी को समझा रहे कि उसका चयन 20 करोड़ लोगों में हुआ है, जो न्याय संगत होगा वही किया गया।

ये था मामला..

जानकारी के अनुसार, कस्बे के एक मोहल्ले में एक पक्ष के युवक द्वारा दूसरे पक्ष की युवती को प्रेम जाल में फांस घर से गायब कर दिया गया था। इसमें पुलिस (Police) ने पीड़ित पक्ष की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज की थी, लेकिन शिवराजपुर के कई नेताओं द्वारा पुलिस पर लगातार यह आरोप लगाया जा रहा था कि आरोपियों पर कोई सख्त कार्रवाई नहीं हो रही। इसी बात को लेकर 11 जुलाई 2022 को शिवराजपुर थाने में बिल्हौर विधायक मोहित सोनकर पहुंचे। साथ ही कुछ छुटभैया नेताओं ने दरोगा पर दबाब-प्रभाव दिखाना शुरू कर दिया और बहस जारी हो गई। 

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो 

वहीं विवाद के कारण एकाएक तैश में आए विधायक दरोगा से कहने लगे की मैं डकैत हूं क्या, बापूपुरवा थाने में रिकॉर्ड चेक करो आज तक 151 (शांति भंग की कार्रवाई) भी नहीं है। इस पर दरोगा छुटभैया नेता को बताने लगे कि उनका भी चयन 20 करोड़ लोगों में हुआ है। वहीं इस बहस का वीडियो (Video) बीते कई दिनों सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हो रहा है। मामले में जानकारी देते हुए विधायक मोहित सोनकर (MLA Mohit Sonkar) ने बताया कि सरकार की छवि को खराब करने के लिए सपा मानसिकता के लोग अपराधियों का साथ दे रहे हैं। शिवराजपुर में लव जिहाद करने वालों पर कार्रवाई न होने का मुद्दा विधानसभा में उठाएंगे।

करा दो मेरा ट्रांसफर 

दरअसल, बिकरू कांड के बाद से सर्किल के चौबेपुर में थाने में जुलाई 2020 से कृष्ण मोहन राय (Krishna Mohan Roy) की तैनाती है। कई स्थानीय छुटभैया नेता प्रभाव जमाने के लिए तरह-तरह का दबाव डालने के लिए चौबेपुर थाने आते-जाते देखे जा सकते हैं। बीते दिनों एक मामले में पहुंचे जनप्रतिनिधि की टोन देखकर थानाध्यक्ष (SHO) ने सीधे लफ्जों में नेता जी से कह दिया, अगर आप बड़े नेता हैं, तो मेरा ट्रांसफर करा दो। तब मैं भी आपको बड़ा नेता मान लूंगा। 

वहीं सूत्रों की माने तो उक्त नेता ने शासन में बैठे कई मंत्रियों, लखनऊ सचिवालय (Lucknow Secretariat) समेत आईजी, डीआईजी के दफ्तरों में चक्कर लगाए, लेकिन आज तक 2 साल गुजर गए चौबेपुर एसओ का तबादला नहीं हुआ है।

संवाददाता

HIMANSHU GARG

Police Media News

Leave a comment