Khaki Connection

वर्ल्ड एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में नीरज चोपड़ा ने जीता सिल्वर मेडल, Indian Army ने दी बधाई

वर्ल्ड एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में नीरज चोपड़ा ने जीता सिल्वर मेडल, Indian Army ने दी बधाई

ओलंपिक में गोल्ड जीतने वाले नीरज चोपड़ा किसी पहचान के मोहताज नहीं है। एक बार फिर से उन्होंने देश का नाम विदेश की धरती पर रोशन किया है। दरअसल, नीरज ने अमेरिका के यूजीन में हुई वर्ल्ड एथलेटिक्स चैम्पियनशिप के फाइनल में 88.13 मीटर दूर फेंका भाला फेंकते हुए सिल्वर मेडल पर निशाना साधा। रोहित यादव 10वें नंबर पर रहते हुए फाइनल में मेडल की रेस से बाहर हुए। नीरज की इस सफलता पर भारतीय सेना ने ट्वीट करके अपने सूबेदार को बधाई दी है। ओलंपिक जीतने के पहले ही नीरज चोपड़ा को सेना में सूबेदार का पद मिला था। 

यूजीन में रचा इतिहास


जानकारी के मुताबिक, 24 दिसंबर 1997 को हरियाणा के पानीपत में जन्‍में नीरज चोपड़ा ने अपने पहले ओलिंपिक में गोल्‍ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया था। एक बार फिर से इतिहास के पन्नों में नीरज का नाम दर्ज होगा। दरअसल, भारत के महान जैवलिन थ्रो एथलीट चोपड़ा ने रविवार को खेले गए फाइनल मैच में फाउल से साथ शुरुआत की। जिसके बाद दूसरे प्रयास में 82.39 मीटर पर भाला फेंक वो नंबर 4 पर पहुंचे। तीसरे प्रयास में 86.37 मीटर का थ्रो करने के बाद भी नीरज मेडल की संभावित लिस्ट से बाहर थे। हालांकि चौथे प्रयास में किया 88.13 का थ्रो उन्हें दूसरे नंबर पर ले आया।

सिल्वर मेडल से करना पड़ा संतोष


बता दें कि नीरज के बाद विश्व चैंपियन एंडरसन पीटर्स को पछाड़ पहले नंबर पर आने का मौका था लेकिन इसके लिए उन्हें अपने पांचवें और छठें प्रयास में 90 मीटर का रिकॉर्ड आंकड़ा पार करना होता। चोपड़ा के आखिरी दोनों प्रयास फाउल रहे और भारतीय एथलीट को सिल्वर से ही संतोष करना पड़ा।

सेना ने दी बधाई


अपने सूबेदार की इस सफलता पर भारतीय सेना ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, "#नीरज चोपड़ा ने एक बार फिर #IndianArmy और राष्ट्र को गौरवान्वित किया है। #IndianArmy ने सूबेदार नीरज चोपड़ा को विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप ओरेगॉन 2022 में 88.13 मीटर थ्रो के साथ पुरुषों की भाला फेंक में #सिल्वर मेडल जीतने पर बधाई । #WCHOregon22"

कब मिला था सूबेदार का पद


भारतीय सेना के इस ट्वीट पर लोगों का तांता लग गया है। हर कोई नीरज चोपड़ा को बधाई दे रहा है। बता दें कि नीरज चोपड़ा को  2016 में खेल कोटे के तहत भारतीय सेना में नायब सूबेदार के पद पर शामिल किया गया था। उनकी मूल यूनिट 4 राजपूताना राइफल्स है। आमतौर पर सेना में किसी भी खिलाड़ी को सीधे नायब सूबेदार रैंक में भर्ती नहीं किया जाता है लेकिन नीरज का खेल रिकॉर्ड शानदार था। इसी वजह से उन्हें सीधे नायब सूबेदार का रैंक दिया गया।

संवाददाता

HIMANSHU GARG

Police Media News

Leave a comment