Super Cop

Indian Air Force Day : देश की पहली महिला फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी सिंह ने आज राफेल संग आसमान में भरी उड़ान

Indian Air Force Day : देश की पहली महिला फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी सिंह ने आज राफेल संग आसमान में भरी उड़ान

अपने माता-पिता के सपनों को साकार कर जीवन में कुछ बन पाने का सपना हर कोई देखता है। कठीन परीक्ष कर जब किसी माता पिता की संतान कुछ बड़ी उपलब्धि हांसिल करती है। तो माता पिता ही होते हैं जिन्हें सबसे ज्यादा खुशी होती है। क्योंकि कल तक वो अपने बच्चों की पहचान होते हैं लेकिन जब उनकी संतान कुछ अलग करके दिखाती है तो यही संतान होती है जिसकी वजह से माता पिता गर्व का एहसास करते है... यह कोई ओर नहीं कह रहा बल्कि देश की पहली महिला फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी सिंह के पिता कुमारेश्वर सिंह का कहना है... जी हां आज 89 वे Indian Air Force Day पर राफेल उड़ाने वाली और कोई नहीं देश की जांबाज बेटी शिवांगी हैं। जिनके अभिवावक का सर आज उस समय फक्र से और भी ज्यादा ऊंचा हो गया जब उनकी बेटी का नाम धरती पर गुंज रहा था और वह आसमान में राफेल के साथ उडान भरकर देश की पहली राफेल जेट महिला पायलट बनी। 

एनसीसी में भी रहा उत्कृष्ट प्रदर्शन 

शिवांगी उड़ाती है वायु सेना का विमान

शिवांगी के पिता कुमारेश्वर के मुताबिक वायु सेना में लेफ्टिनेंट शिवांगी की लगन और दृढ़ निश्चय से की गई कड़ी मेहनत का ही नतीजा है जिसने आज उसे सफलता के मुकाम तक पहुंचाया है। शिवांजी के अभिवावकों का कहना है कि यह जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धि है। 16 दिसंबर 2017 को ही हैदराबाद स्थित एयर फोर्स अकादमी में शिवांगी को फाइटर पायलट का मेडल मिला था। शिवांगी पढ़ाई में तेज थी। वह एनसीसी में भी उत्कृष्ट प्रदर्शन करती थी। एनसीसी में राजपथ पर 2013 में परेड करने के बाद उसने बांग्लादेश का भी दौरा किया। जहां वह एनसीसी में बेस्ट कैडेट चुनी गईं।

एनसीसी में 7 यूपी एयर स्क्वाड्रन का रही हिस्सा

शिवांगी उड़ाती है वायु सेना का विमान

शिवांगी ने वाराणसी में स्कूलिंग के बाद उच्च शिक्षा के लिए बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) पढ़ने का मन बनाया। जहां वह नेशनल कैडेट कोर में 7 यूपी एयर स्क्वाड्रन का हिस्सा रही। 2013 से 2015 तक एनसीसी में वह बतौर कैडेट रहते हुए सनबीम भगवानपुर से बीएससी किया। शिवांगी दिल्ली में गणतंत्र दिवस परेड में 2013 में उत्तर प्रदेश टीम का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। उन्होंने 2016 में प्रशिक्षण के लिए वायु सेना अकादमी ज्वाइन की थी।

देश सेवा का जज्बा शुरू से ही रहा

शिवांगी उड़ाती है वायु सेना का विमान

शिवांगी  ने अपने सपने को देखने से लेकर फिर उन्हें पूरा करने तक के सफर को होंसेल के जुनून की हद तक गुजर जाने तक पहुंचाया। देश सेवा का जज्बा शिवांगी की रगों में शुरू से ही रहा है। उनके नाना भी आर्मी में थे। शिवांगी ने जब चलना सीखा उसके कुछ समय बाद से ही आकाश में परवाज भरने की ठान ली।

साल 2016 में मिला था फाइटर पायलट का मेडल

शिवांगी उड़ाती है वायु सेना का विमान

प्रदेश की पहली महिला फाइटर पायलट बनी शिवांगी के लिए फाइटर प्लेन उड़ाने किसी सपने को को पूरा करने जितना आसान नहीं था। लेकिन इसके बावजूद शिवांगी ने न सिर्फ अपने सपने को पूरा किया बल्कि वह अन्य लड़कियों के लिए भी किसी नजीर से कम साबित नहीं हुई। यही वजह थी की 16 दिसंबर को हैदराबाद स्थित एयर फोर्स एकेडमी में उन्हें फाइटर पायलट का तमगा मिला। 

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment