Khaki Connection

बनारसी बोली में नंबर प्लेट पर वाक्य लिखवाना पड़ा भारी, पुलिस ने काटा 6000 का चालान

बनारसी बोली में नंबर प्लेट पर वाक्य लिखवाना पड़ा भारी, पुलिस ने काटा 6000 का चालान

उत्तर प्रदेश में कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए Weekend Lockdown लगाया गया है। जिसके तहत वाराणसी पुलिस लाकडाउन को लेकर सख्त बनी हुई है साथ ही दुकानों और सड़कों पर गाड़ियों की चेकिंग कर रही है। चेकिंग के दौरान वाराणसी पुलिस ने द्वारा एक बाइक का चालान काटा गया, इसके पीछे की वजह भी बेहद अलग है दरअसल सिपाही ने चेकिंग के दौरान देखा कि बाइक पर नंबर प्लेट की जगह नंबर नहीं बल्कि बनारसी बोली का एक शब्द लिखा था, जो लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गया। 

नंबर प्लेट की जगह लिखी थी देसी भाषा

वाराणसी पुलिस जिले में लाकडाउन का पालन कराने के लिए हर औप चेकिंग अभियान चला रही है, जिसके तहत पुलिस के सामने एक ऐसा मामला सामने जिसने पुलिस को ही हैरान कर दिया। दरअसल चेकिंग के दौरान पुलिस को एक बाइक नंबर प्लेट पर नंबर की जगह देसी भाषा में 'महालंठ' लिखा मिला। जिसे देखकर पुलिस हक्के बक्के रह गए। लेकिन पुलिस ने मौके पर ही कार्रवाआ करते हुए बाइक मालिक का 6000 रुपये का चालान कटा। इस चालान में 5000 नंबर प्लेट न होने के और 100 रुपये इस शब्द की वजह से लगाए गए हैं। 


चेकिंग अभियान के तहत पकड़ा 


मामला वाराणसी के मंडुवाडीह थाना क्षेत्र का है। जहां पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश के आदेशानुसार वीकेंड लॉकडाउन पर चेकिंग अभियान चल रहा था। ऐसे में सिपाही देवानंद और नीतीश कुमार चेकिंग कर रहे थे। इसी बीच देखा गया कि नंबर प्लेट की जगह बाइक सवार लड़कों ने बनारस की हंसी-मजाक वाली भाषा में एक अजीब सा शब्द लिखवा रखा था। बताया जा रहा है कि वह शब्द अमर्यादित श्रेणी में आता है। 

सिपाहियों से बनाने लगा बहाने


सिपाहियों ने बाइक सवार युवकों से कारण पूछा तो उन्होंने बहाने बनाने शुरू कर दिए। लेकिन किसी ने भी सही से जवाब देना मुनासिफ ना समझा। जवाब न मिलने पर सिपाही उन्हें चौकी इंचार्ज के पास लेकर गए। जहां पहुंचने के बाद लड़कों ने बताया कि घर में शादी है और साथ में अमर्यादित शब्द को लेकर माफी मांगी। शादी की बात सुनकर मानवीय पहलू के आधार पर पुलिस ने शब्द हटवाने को लेकर चेतावनी दी और चालान काटकर उन्हें जाने दिया। 

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment