Super Cop

पुलिस का मानवीय चेहरा: साइकिल पर शव ले जा रहे बुजुर्ग की मदद करने पर पुलिसकर्मियों को सम्मानित करेंगे SP

पुलिस का मानवीय चेहरा: साइकिल पर शव ले जा रहे बुजुर्ग की मदद करने पर पुलिसकर्मियों को सम्मानित करेंगे SP

जहां आए दिन पुलिस वालों को लेकर समाज में निंदा होती रहती है। वहीं इस खाकी वर्दी के पाछे एक मानवीय चेहरा भी होता हे। जो इन सारी बुराईयों को पीछे छोड़ कर समाज में एक मिसाल पेश करता है। ऐसा ही एक मामला देखने को मिला है जौनपुर से। जहां गांव वालों के विरोध के बाद साइकिल पर पत्नी का शव लेकर जा रहे बुजुर्ग के सहायक बने पुलिसकर्मियों को SP ने खुद सम्मानित करने का फैसला लिया है। दरअसल, मानवीय कार्य कर मिसाल पेश करने वाले मड़ियाहूं कोतवाल समेत 6 पुलिस कर्मियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा। आपको बता दें SP राजकरन नय्यर ने कहा कि मड़ियाहूं पुलिस के इस कार्य से अन्य कर्मियों को भी प्रेरणा मिलेगी।

 

ये है पूरा मामला

आपोक बात दें कि मड़ियाहूं कोतवाली क्षेत्र के अम्बरपुर गांव के रहने वाले बुजुर्ग तिलकधारी की पत्नी राजकुमारी देवी का मंगलवार को उपचार के दौरान ही निधन हो गया था। जिसके बाद जिला अस्पताल से एम्बुलेंस ने शव लेकर गांव पहुंचा दिया। जहां कोरोना से मौत बताकर पड़ोसियों ने शव को कंधा देने से इंकार कर दिया। जिसपर तिलकधारी साइकिल पर शव रखकर नदी किनारे पहुंचे, लेकिन यहां भी अंतिम संस्कार नहीं करने दिया गया। बुजुर्ग साइकिल पर शव लेकर भटकता रहा।

 

प्रशस्ति पत्र देकर किया जाएगा सम्मानित

हालांकि साइकिल पर शव लेकर भटक रहे बुजुर्ग के बारे में सूचना मिलते ही मड़ियाहूं पुलिस तुरंत सक्रीय हुई और मौके पर पहुंचकर न सिर्फ शव के अंतिम संस्कार की व्यवस्था की, बल्कि शव को कंधा भी दिया। वाहन की व्यवस्था कर शव को रामघाट पहुंचवाया। जब बुधवार को यह मामला सुर्खियों में आया तो हर कोई पुलिस की इस पहल की सराहना करने लगा। वहीं देर रात SP राजकरन नय्यर ने सभी पुलिस कर्मियों को सम्मानित करने का निर्णय लिया। SP ने बताया कि मड़ियाहूं कोतवाल मुन्नाराम धुसिया, हेड कांस्टेबल कृष्ण मुरारी, संजय यादव, सुधीर दुबे, कांस्टेबल प्रवीण मिश्रा, कांस्टेबल चालक राजकुमार यादव को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा।

संवाददाता

JYOTI MEHRA

Police Media News

Leave a comment