Khaki Connection

हिस्ट्रीशीटर’ कफील खान की UP Police ने आखिर कैसे उजागर की सच्चाई ?

हिस्ट्रीशीटर’ कफील खान की UP Police ने आखिर कैसे उजागर की सच्चाई ?

ऑक्सीजन की कमी से बच्चों की मौत मामले में आरोपी डॉक्टर काफील खान ने 19 जनवरी 2022 को उत्तर प्रदेश की पुलिस पर ही अत्याचार का आरोप लगाते हुए ट्वीट कर दिया है। जिसमें आरोपी डॉक्टर ने पुलिस पर अपने परिजनों को परेशान करने का आरोप लगाया है। आरोपी कफील खान ने अपने ट्वीट में लिखा है कि - “मैं केरल में हूँ। अपनी किताब लोगों तक पहुँचाने के लिए। उत्तर प्रदेश चुनाव से दूर। बच्चों के इलाज में व्यस्त। पर बर्दाश्त नहीं। पुलिस भेज कर मेरी 70 साल की ज़ईफ़ माँ को डरा-धमकाकर क्या साबित करना चाहते हैं? गिरफ़्तार करना चाहते हैं, मारना चाहते हैं? कर लो मैं डरता नहीं साहब।”

पत्रकार ने किया बचाव

कफील खान के चिंगारी जैसे ट्वीट करते ही लिबरल गैंग उसके प्रोपेगेंडा को हवा देने के काम में लग गया है। वहीं एक पत्रकार की माने तो “जब कफील खान केरल में अपनी किताब ‘द गोरखपुर हॉस्पिटल ट्रेजिडी’ का प्रमोशन कर रहे हैं, तब UP पुलिस उनके घर पहुँची है। घर में उनकी 70 वर्षीया माँ ही रहतीं हैं। उन्हें चेतावनी देते हुए सवाल जवाब करती है।” पत्रकार ने कफील के भाई अदील खान के हवाले से मिली जानकारी के आधार पर बताया कि पुलिस ने कफील को व्यक्तिगत रूप से थाने में पेश होने को कहा है।

गोरखपुर पुलिस ने भी दी जानकारी

इन आरोपों का जवाब देते हुए गोरखपुर पुलिस ने कहा है कि "कफील खान हिस्ट्रीशीटर है। थाना राजघाट में उसकी हिस्ट्रीशीट दर्ज है। चुनावों को ध्यान में रखते हुए सभी हिस्ट्रीशीटरों के सत्यापन की कार्रवाई चल रही है। इसी क्रम में राजघाट थाना पुलिस कफील के घर गई थी। परिजनों ने पुलिस को बताया कि वे काम से बाहर गए हुए हैं।"

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment