Others

थाने से लापता BHU के छात्र के मामले में पुलिस कार्रवाई पर हाई कोर्ट ने उठाए सवाल

थाने से लापता BHU के छात्र के मामले में पुलिस कार्रवाई पर हाई कोर्ट ने उठाए सवाल

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने वाराणसी के लंका थाने से लापता काशी हिंदू विश्वविद्यालय के छात्र शिव कुमार त्रिवेदी के बारे में पुलिसिया रवैये पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की है और कड़ी फटकार लगायी है। कोर्ट ने एसएसपी वाराणसी को 3 सितम्बर को व्यक्तिगत हलफनामे के साथ हाजिर होने का निर्देश दिया है। कोर्ट ने एसएसपी से पूछा है कि, 12 फरवरी को थाने में बुलाये गये छात्र के दूसरे दिन भाग जाने पर पुलिस ने क्या कार्यवाही की। पुलिस द्वारा उठाए गये कदमों का पूरा ब्यौरा दाखिल करने का कोर्ट ने निर्देश दिया है। यह आदेश मुख्य न्यायाधीश गोविंद माथुर तथा न्यायमूर्ति एस डी सिंह की खंडपीठ ने अधिवक्ता सौरभ तिवारी की पत्र जनहित याचिका पर दिया है ।

डीएम समेत अन्य अफसरों को भेजा नोटिस

कोर्ट ने 19 अगस्त को डीएम, एसएसपी वाराणसी व लंका थाना इंचार्ज को नोटिस जारी कर थाने से लापता छात्र की पूरी जानकारी मांगी थी। क्षेत्राधिकारी भेलूपुर ने हलफनामा दाखिल किया और कहा कि, पुलिस ने आवश्यक कदम उठाए हैं। कोर्ट ने कहा कि, 12 फरवरी को लंका थाने में बुलाने के बाद क्या हुआ, इसकी कोई जानकारी नही दी गयी है।

3 सितंबर को अदालत ने फिर किया तलब

अपर महाधिवक्ता ने कहा कि, छात्र दूसरे दिन थाने से भाग गया। कहा गया कि, इसकी जानकारी नहीं है। एक विक्षिप्त व्यक्ति मिला है। उसके लापता छात्र होने की आशंका है। जिसकी पहचान के लिए DNA बायोमैट्रिक टेस्ट कराया जा रहा है। कोर्ट ने कहा कि, यह समझ से परे है कि एक छात्र थाने में बुलाया गया और दूसरे दिन भाग गया। जिसका जीडी में कोई जिक्र नहीं है। तथ्यहीन हलफनामा दाखिल किया गया है। इस पर कोर्ट ने एसएसपी को लापता छात्र के बारे में पुलिस कार्रवाई की पूरी जानकारी के साथ 3 सितंबर को तलब किया है।

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment