Khaki Connection

3 पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद ग्वालियर IG हटाए गए... सीएम का निर्देश ऐसी हो कार्रवाई जो अपराधियों के लिए नजीर बने

3 पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद ग्वालियर IG हटाए गए... सीएम का निर्देश ऐसी हो कार्रवाई जो अपराधियों के लिए नजीर बने

देश में आज सबसे बड़ी खबर मध्य प्रदेश से गुना जिले के आरोन से सामने आई। जहां काला हिरण का शिकार करने वाले शिकारियों ने 3 पुलिसकर्मियों को बेहद ही बर्रबरता के साथ मौत के घाट उतार दिया। मामले में संज्ञान लेते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी सख्त रूख इख्तेयार करते हुए घटनास्थल पर पहुंचने में देर करने वाले ग्वालियर आईजी अनिल शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटा दिया है। वहीं गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए है। आपको बता दें कि सरकार ने शहीद हुए पुलिसकर्मियों के परिजनों को 1-1 करोड़ रूपये की आर्थिक धन राशी देने की घोषणा की है।

सीएम ने किया ट्वीट

इस घटना पर शोक जताते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किए- ‘गुना में शिकारियों का मुकाबला करते हुए हमारे पुलिस के जवानों ने शहादत दी है.। अपराधियों के खिलाफ ऐसी कार्रवाई होगी, जो इतिहास में उदाहरण बनेगी। अपराधियों की लगभग पहचान हो गई. जांच चल रही है, पुलिस फोर्स को भेजा गया है। अपराधी किसी भी कीमत पर नहीं बचेंगे।’

परिवार को एक-एक करोड़ की मदद- सीएम

सीएम ने ट्वीट किया- ‘पुलिस के साथी राजकुमार जाटव, नीरज भार्गव, संतराम को शहीद का दर्जा देकर इनके परिवार को एक-एक करोड़ रुपये सम्मान निधि दी जायेगी। परिवार के एक सदस्य को शासकीय सेवा में लिया जाएगा। पूरे सम्मान के साथ इनका अंतिम संस्कार होगा। घटना के बाद घटनास्थल पर पहुंचने में विलंब करने पर मैंने ग्वालियर के आईजी को तत्काल हटाने का फैसला लिया है।

क्या कहते हैं मंत्री नरोत्तम मिश्रा

घटना के बार मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दुख व्यक्त किया है। मिश्रा का कहना है कि यह बड़ी दुखद और हृदय विदारक घटना है। जैसे ही घटना की जानकारी मिली वैसे ही एसपी और डीजीपी से लगातार संपर्क बनाया हुआ है। 

कैसे हुई मुठभेड़

गुना जिले के पास आरोन क्षेत्र में 7-8  बदमाशों होने की सूचना पुलिस को मिली थी। पुलिस जैसे ही वहां पहुंची, तो बदमाशों ने पुलिस टीम पर गोलीबारी शुरू कर दी। जिसमें हमारे जांबाज सब- इंस्पेक्टर राजकुमार जाटव, हवलदार नीलेश भार्गव और सिपाही संतराम मौके पर ही शहीद हो गए। वहीं मामले में सीएम खुद वारदात की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। सीएम ने सख्त कार्रवाई के निर्देश भी दिए हैं। जिसमें सीएम का कहना है कि पुलिस अधिकारियों द्वारा ऐसी कार्रवाई हो जो अन्य अपराधियों के लिए नजीर बने। अपराधी कोई भी हो पुलिस से बचके कहीं नहीं जा सकेगा।

मौके से भारी मात्रा में मृत हिरण और मोर भी हुए बरामद

गुना एसपी राजीव कुमार मिश्रा ने घटना की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि बदमाश सगा बरखेड़ा की तरफ से आ रहे हैं। सूचना मिलते ही पुलिस की 4 टीमें बनाई गईं और बदमाशों की घेराबंदी की गई। इस बीच पुलिस टीम ने शहरोक के जंगल में 4-5 बाइक से बदमाशों को जाते हुए देखा। पुलिस ने जैसे ही उन्हें घेरा तो उन्होंने गोलियां चलाना शुरू कर दिया। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की। लेकिन तब तक बदमाश पुलिस के हाथों से बच कर भाग निकले। घटना के बाद पुलिस ने मौके से बड़ी मात्रा में हिरण का मांस और मरे हुए मोर जब्त किए हैं। मृतक पुलिसवालों के शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है।

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment