Khaki Connection

एक बार फिर सुर्खियों में छाई पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर की पत्नी नूतन... ड्राइविंग लाइसेंस निकला फर्जी

एक बार फिर सुर्खियों में छाई पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर की पत्नी नूतन... ड्राइविंग लाइसेंस निकला फर्जी

उत्तर प्रदेश से एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर (Former IPS Amitabh Thakur) की पत्नी नूतन ठाकुर (Wife Nutan Thakur) का ड्राइविंग लाइसेंस फर्जी (Driving License Fake) पाया गया है। जानकारी के अनुसार, इस बात की जानकारी तब लगी जब वह खुद रिनिवल के लिए लखनऊ आरटीओ ऑफिस (Lucknow RTO Office) पहुंचीं। बता दें लाइसेंस पहले आगरा में पोस्टिंग के द्वारा बनवाया गया था। ऐसा बताया जा रहा है कि अब पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर आरटीओ के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज कर कार्रवाई की मांग करेंगे।

आगरा में तैनाती के दौरान बनवाया था पत्नी का लाइसेंस 

जानकारी के अनुसार, पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने 2002 में आगरा (Agra) में तैनाती के दौरान अपनी पत्नी नूतन ठाकुर का लाइसेंस बनवाया था। बता दें 3 जून को लाइसेंस की अवधि समाप्त हो गई। इसके बाद नवीनीकरण कराने के लिए लाइसेंस नंबर 117/ AG/06 के लिए जानकारी की तो पता लगा इस नंबर पर किसी और लाइसेंस मौजूद है और यह फर्जी (Fake) है।

आरटीओ की लापरवाही से दिया गया फर्जी लाइसेंस 

मामले में जानकारी देते हुए पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने बताया कि ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License) आगरा से बनवाया गया था। उस दौरान आरटीओ (RTO) की लापरवाही की वजह से फर्जी लाइसेंस दे दिया गया, हमें उस वक्त इसके बारे में जानकारी हुई जब हम इसका रिन्यूवल कराने पहुंचे, हमने आरटीओ आगरा के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज कर कार्रवाई की मांग करेंगे।

वहीं दूसरी तरफ इस मामले में एआरटीओ प्रशासन केके सिंह (ARTO Administration KK Singh) का कहना है कि पूरे मामले की जांच कराई जाएगी, जो भी दोषी होंगे, उनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी। 

गौरतलब है कि 7 महीने तक जेल में रहने के बाद इस साल मार्च में पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर को जमानत मिली थी। जमानत मिलने के बाद लखनऊ जेल (Lucknow Jail) ने उन्हें पैसा वापसी का नोटिस भेजा था। जेल में रहने के दौरान अमिताभ ठाकुर को खर्चे के लिए मिली रकम और जेल से छूटने के बाद बाकी रकम के भुगतान में अमिताभ ठाकुर को जेल प्रशासन ने 400 रुपये ज्यादा दे दिए थे, अब उसी 400 रुपये को लखनऊ जेल प्रशासन (Lucknow Jail Administration) वापस मांग रहा था।

संवाददाता

HIMANSHU GARG

Police Media News

Leave a comment