Others

पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर को लखनऊ पुलिस ने किया नजरबंद, शहर से बाहर जाने पर लगायी पाबंदी

पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर को लखनऊ पुलिस ने किया नजरबंद, शहर से बाहर जाने पर लगायी पाबंदी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान करने वाले पूर्व IPS अफसर अमिताभ ठाकुर को लखनऊ पुलिस ने नजरबंद कर दिया है। हालांकि, पुलिस ने गिरफ्तारी की बात से इंकार कर दिया। ACP ने कहा कि वह एक गंभीर मामले में आरोपी हैं। इसलिए उन्हें शहर से बाहर जाने से रोका गया है।

Image


रेप के आरोपी BSP सांसद का साथ देने का आरोप

रिटायर आईपीएस अमिताभ ठाकुर पर रेप पीड़िता ने रेप के आरोपी BSP सांसद अतुल राय का साथ देने का आरोप लगाया है। पीड़िता ने दो दिन पहले एक वीडियो जारी किया था। इसमें उसने पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर पर आरोप लगाया है। पीड़िता और उसके दोस्त ने वीडियो में कहा कि जब ये मामला कोर्ट में विचाराधीन था, तब अमिताभ ठाकुर ने इसमें हस्तक्षेप किया और अतुल राय का समर्थन किया। 10 मिनट का वीडियो रिकॉर्ड करने के दौरान ही पीड़िता और उसके दोस्त ने सुप्रीम कोर्ट के बाहर आग लगाकर खुद की जान देने की कोशिश की थी। अभी उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है।

Image


गोरखपुर के लिए निकल रहे थे

अमिताभ ठाकुर ने सोशल मीडिया पर बताया कि वह सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ चुनावी जनसंपर्क के लिए गोरखपुर जा रहे थे। इस बीच उन्हें ACP गोमतीनगर ने आकर रोक लिया। अमिताभ ठाकुर सुबह करीब 7 बजे निकले थे। वह गोमतीनगर के रेल विहार कॉलोनी निवासी अपने एक दोस्त के घर पहुंचे ही थे कि पुलिस ने उन्हें वहीं पर पकड़ लिया। अमिताभ ने सोशल मीडिया पर लिखा कि 'दूसरे पक्ष में डर बहुत ज्यादा है। जाने देने से बहुत डर रहे हैं।'



पुलिस का क्या कहना है?

ACP श्वेता श्रीवास्तव का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के बाहर आत्मदाह का प्रयास करने वाली रेप पीड़िता ने अमिताभ ठाकुर पर गंभीर आरोप लगाए हैं। मामले की जांच कर रही कमेटी ने अमिताभ ठाकुर को तलब किया है। आरोपी सांसद अतुल राय और पीड़िता गोरखपुर रीजन से ही जुड़े हैं। ऐसे में अमिताभ ठाकुर के वहां जाने से लॉ एंड ऑर्डर बिगड़ सकता है। उन्हें अरेस्ट नही किया गया बल्कि जाने से रोका गया है।

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment