Khaki Connection

UP पुलिस को सिपाही से ही है शांति भंग का खतरा, जानें पूरा मामला

UP पुलिस को सिपाही से ही है शांति भंग का खतरा, जानें पूरा मामला

कुछ ही समय में यूपी विधानसभा (UP Assambly Election) चुनाव आने वाले हैं। जिसके चलते शासन प्रशासन ने कमर कसनी शुरू कर दी है। पर, इसी बीच ऐसी खबरें सामने आती हैं, जिन्हे सुनकर बेहद हैरानी होती है। मामला देवरिया (Deoria) जिले का है, जहां पुलिस ने इस बार अपने ही विभाग के सिपाही को शांति भंग के अंदेशे के चलते निरुद्ध कर दिया है। एकौना पुलिस का यह कारनामा बृहस्पतिवार को चर्चा में रहा। अब सिपाही ने गोरखपुर (Gorakhpur) में प्रार्थना पत्र देकर अपनी परेशानी अफसरों को बताई है।

ये है मामला

जानकारी के मुताबिक, गोरखपुर (Gorakhpur) जिले झंगहा थाना क्षेत्र के 112 में तैनात सिपाही अजय साहनी देवरिया रुद्रपुर क्षेत्र के सरांव बुजुर्ग गांव के मूल निवासी हैं। सिपाही ने एसडीएम को पत्रक देकर बताया कि उनकी पत्नी शिल्पा साहनी वर्तमान में गांव की प्रधान हैं। बीट सिपाही की रिपोर्ट के आधार पर एकौना थानाध्यक्ष द्वारा उन्हें विधान सभा चुनाव में शांति भंग अंदेशे को देखते निरुद्ध कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि वह पुलिस विभाग में वर्ष 2015 से कार्यरत हैं। बिना जांच किए पुलिस ने उन्हें निरुद्ध कर दिया। चुनाव के दौरान पुलिस को पुलिस से ही खतरा बताना लापरवाही को उजागर करता है। उन्होंने मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

संवाददाता

ISHA GUPTA

Police Media News

Leave a comment