Encounter

दिल्ली: मुठभेड़ के बाद पकड़ा गया गैंगस्टर प्रवीण यादव, पुलिस ने रखा था एक लाख का इनाम

दिल्ली: मुठभेड़ के बाद पकड़ा गया गैंगस्टर प्रवीण यादव, पुलिस ने रखा था एक लाख का इनाम

राजधानी दिल्ली में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल के हाथ एक बड़ी सफलता लगी है, बता दें पुलिस ने मुठभेड़ (Encounter) के बाद प्रवीण यादव नामक गैंगस्टर (Gangster Praveen Yadav) को गिरफ्तार कर लिया है। प्रवीण ने वर्ष 2021 में लॉ पढ़ रहे छात्र की रोहिणी (Rohini) इलाके में गोली मारकर हत्या कर दी थी। वह पहले राजेश बवानिया, नीतू दाबोदिया और अशोक प्रधान जैसे गिरोहों से जुड़ा रहा है। इतना ही नहीं दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने उस पर एक लाख का इनाम भी रखा हुआ था।

पुलिस ने इस तरह से किया गिरफ्तार 

मामले में जानकारी देते हुए स्पेशल सेल (Special Cell) के डीसीपी जसमीत सिंह (DCP Jasmeet Singh) ने बताया कि फरार गैंगस्टर प्रवीण यादव (Gangster Praveen Yadav) को पकड़ने के लिए स्पेशल सेल की टीम पिछले कई दिनों से काम कर रही थी। लेकिन अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए प्रवीण हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली में बार-बार अपने ठिकाने बदल रहा था। इंस्पेक्टर शिव कुमार (Inspector Shiv Kumar) को 14 अगस्त को एक विशेष सूचना मिली कि प्रवीण यादव महरौली की तरफ मारुति बलेनो कार में आएगा और 14 अगस्त को सुबह 8 बजे से 9 बजे के बीच चौधरी जगत सिंह रोड होते हुए घिटोरनी गांव की तरफ अपने जानकार से मिलने जाएगा।

पुलिस टीम पर की फायरिंग 

पुलिस (Police) की माने तो इस सूचना पर तुरंत कदम उठाते हुए प्रवीण को पकड़ने के लिए जाल बिछाया गया। रविवार सुबह करीब 8:40 बजे बलेनो कार चला रहे प्रवीण यादव को महरौली की तरफ से आते देखा गया। पुलिस टीम (Police Team) ने अपनी पहचान बताकर उसे रुकने का इशारा किया, लेकिन आरोपी ने भागने की कोशिश की। वहीं पुलिस का दावा है कि टीम के सदस्यों ने उस पर काबू पाने के लिए उसका रास्ता रोक दिया और उसे सरेंडर (Surrender) करने के लिए कहा, लेकिन आरोपी ने अपनी पिस्टल निकाल दी और पुलिस टीम की ओर एक गोली चला दी। जिसके बाद पुलिस (Police) ने भी दो राउंड की फायरिंग के बाद प्रवीण यादव को पकड़ लिया। 

20 से ज्यादा मामलों में है शामिल

वहीं जानकारी देते हुए पुलिस (Police) ने बताया कि प्रवीण के पास से 4 कारतूस के साथ 32 की एक सेमी-ऑटोमैटिक पिस्टल (Semi-Automatic Pistol) बरामद की गई। इतना ही नहीं आरोपी के पास से एक बलेनो कार और मौके पर मिले दो खाली कारतूस भी बरामद किए गए हैं। गिरफ्तार आरोपी समयपुर बादली का घोषित अपराधी है। वह पिछले 27 सालों के दौरान दिल्ली में हत्या के 2, हत्या के प्रयास के 4, और डकैती, जबरन वसूली जैसे 20 ज्यादा मामलों में शामिल है।

ये था मामला..

दरअसल, 9 अप्रैल 2021 को 18 वर्षीय लॉ छात्र अर्जुन अपने चचेरे भाई यश के साथ इलाके के एक सीएनजी पंप (CNG Pump) पर अपनी कार में सीएनजी भरवा रहा था। इसी दौरान गैस भरवाने को लेकर प्रवीण यादव से उसकी बहस हो गई, जिससे गुस्से में आकर प्रवीण ने अपनी कार से पिस्टल निकाली और दोनों पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी और उसके बाद फरार हो गया। फायरिंग में अर्जुन और यश को गोली लगी, जिसमें अर्जुन की मौत हो गई थी।

संवाददाता

HIMANSHU GARG

Police Media News

Leave a comment