Smart Policing

IPS सुकीर्ति माधव मिश्रा से खौफ खाते हैं अपराधी... अब 2 शातिर अपराधियों ने कोतवाली पहुंचकर किया आत्मसमर्पण

IPS सुकीर्ति माधव मिश्रा से खौफ खाते हैं अपराधी... अब 2 शातिर अपराधियों ने कोतवाली पहुंचकर किया आत्मसमर्पण

शामली एक ऐसा जिला जहां पर कभी शातिर अपराधियों का खौफ इतना ज्यादा था कि आम नागरिक खुद को सुरक्षित महसूस करना तो दूर दिन के उजाले में अपने घरों से बाहर कदम रखने तक में डरते थे। लेकिन जब से इस जिले के कप्तान की कमान सुक्रिति माधव मिश्रा के हाथों में आई है तब से जिले की आम जनता खुद को महफूज समझने लगी तो वहीं शातिर अपराधी भी पुलिस की गोली लगने के डर से आत्मसमर्पण करने को मजबुर हो रहे है। ऐसा ही कुछ बीते दिन भी देखने को मिला। जब गैंगस्टर एक्ट के 2 आरोपी दोनों हाथों को ऊपर उठाकर कैराना कोतवाली पहुंचे और पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। पुलिस ने दोनों आरोपियों को मौके पर ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

आखिर कैसे किया आत्मसमर्पण 

दरअसल बीते दिन 2 आरोपी कैरान कोतवाली पहुंचे तो वहां मौजूद पुलिसकर्मी और फरियादी उन्हें देखने लगे। दोनों आरोपियों ने जानकारी देते हुए बताया कि वह गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे में वांछित चल रहे हैं और आत्मसमर्पण करने आए है। कोतवाली में मौजूद वरिष्ठ उपनिरीक्षक राधेश्याम और उपनिरीक्षक सचिन त्यागी ने कोतवाली प्रभारी निरीक्षक प्रेमवीर राणा के आगे पेश किया। कोतवाली प्रभारी ने दोनों आरोपियों से पूछताछ की, कोतवाली प्रभारी के आगे दोनों ही आरोपियों ने फिर से अपराध ना करने की तौबा की। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया। 

आत्मसमर्पण करने वाले आरोपियों की यह है पहचान

पुलिस के सामने आत्मसमर्पण करने वाले आरोपियों में एक शारिक व सरवर है जो मुल रूप से कैराना के रहने वाले हैं। दोनों ने साल 2021 में सपा विधायक नाहिद हसन और उनकी मां पूर्व सांसद तबस्सुम हसन समेत 40 लोगों के खिलाफ कोतवाली में दर्ज हुए गैंगस्टर एक्ट के मुकदमे में दोनों आरोपी वांछित थे।

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment