Khaki Connection

45 लाख रुपए से भरा बैग लौटा कर सिपाही ने पेश की ईमानदारी की मिसाल, लोग कर रहे सराहना

45 लाख रुपए से भरा बैग लौटा कर सिपाही ने पेश की ईमानदारी की मिसाल, लोग कर रहे सराहना

वैसे तो पुलिस के जवान अक्सर अपने काम और अपनी कर्तव्यनिष्ठा के जरिए लोगों के सामने मिसाल पेश करते रहते हैं, पर छत्तीसगढ़ पुलिस के सिपाही ने जो किया वो वाकई याद रखने वाला काम है। सिपाही ने एक ऐसा काम किया है जिसके बारे में पूरे सोशल मीडिया पर चर्चा हो रही है। हर कोई सिपाही की ईमानदारी की ही बात कर रहा है। दरअसल, छत्तीसगढ़ की राजधानी रायुपर में में एक ट्रैफिक पुलिसकर्मी ने ईमानदारी की मिसाल पेश करते हुए 45 लाख रुपये से भरा बैग स्थानीय थाने में जमा करा दिया। सिपाही के इस कदम के बाद सोशल मीडिया पर उनके ईमानदारी की काफी सराहना हो रही है। 

ये है मामला 


जानकारी के मुताबिक, छत्तीसगढ़ के रायपुर में यातायात थाना कयाबांधा नवा रायपुर में पदस्थ सिपाही नीलांबर सिन्हा आज सुबह करीब 8.30 बजे माना एयरपोर्ट से अपनी ड्यूटी खत्म कर वापस लौट रहा था। इसी दौरान उसे माना स्थित राय पब्लिक स्कूल के सामने एक लावारिश बैग दिखा। सिपाही नीलांबर ने उस बैग को खोलकर देखा तो उसमें 2000 और 500 के नोट के बंडल दिखे। जिसे देखकर वो भौचक्का रह गया। 

मालिक की तलाश शुरू 


घबरा कर सिपाही ने तत्काल इसकी सूचना आला अफसरों को दिया और नोटों से भरा बैग पुलिस कंट्रोल रूम में लाकर जमा कराया। बैग के अंदर नोटों की जब गिनती की गई तो यह 45 लाख रूपए निकली।
रुपए का बैग कब्जे में लेकर सिविल लाईन थाना पुलिस ने धारा 102 के तहत लावारिश बैग को जब्त कर इसके मालिक की तलाश शुरू कर दी है। जल्द ही इसके मालिक की तलाश पूरी करके उसे ये बैग सौंप दिया जाएगा।

एसपी ने दी जानकारी 


जानकारी देते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखनानंद राठौर ने बताया कि नवा रायपुर में यातायात पुलिस का सिपाही नीलांबर सिंह को शनिवार सुबह एक लावारिस बैग मिला। नीलांबर ने वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दी और बैग को सिविल लाइंस थाने में जमा करा दिया। अधिकारियों ने सिपाही को पुरस्कृत करने की घोषणा की है। जल्द ही सिपाही को सम्मानित किया जाएगा क्योंकि उसने सभी के सामने एक मिसाल पेश की है।

संवाददाता

HIMANSHU GARG

Police Media News

Leave a comment