Transfer

Ghaziabad SSP मुनिराज जी की बड़ी कार्रवाई, एक साथ इंदिरापुरम थाने के 82 सिपाही और हेड कांस्टेबल लाइन हाजिर

Ghaziabad SSP मुनिराज जी की बड़ी कार्रवाई, एक साथ इंदिरापुरम थाने के 82 सिपाही और हेड कांस्टेबल लाइन हाजिर

दिल्ली से सटे गाजियाबाद में पुलिस की तमाम कोशिश के बावजूद भी बदमाशों बेखौफ मंसूबों में कामयाब हो रहे हैं। आलम यह है कि अपराधिक वारदातों का ग्राफ जहां कम होता दिखाई दे रहा था। तो वहीं एक बार फिर से वह ग्राफ बढ़ता चला जा रहा है। बात की जाए जिले के सबसे पोश इलाके की तो इंदिरापुरम थाना क्षेत्र में अपराधी खुलेआम घुमकर वारदातों को अंजाम देने में लगे हुए है। जो पुलिस के लिए किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है। लगातार हो रही आपराधिक वारदातों और बढ़ते अपराध के देखते हुए तथा कानून-व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त करने के साथ ही अपराध पर लगाम लगाने के उद्देश्य से SSP मुनिराज जी ने बड़ा फैंसला लेते हुए इंदिरापुरम थाने में तैनात 82 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर करते हुए पुलिस लाइन भेज दिया है। इसके साथ ही पुलिस लाइन से 84 पुलिसकर्मियों को थाना इंदिरापुरम में तैनाती मिल गई है। इसके अलावा पुलिस लाइन से ही 77 अन्य पुलिसकर्मियों को अन्य थानों में भेजा गया है।

77 आरक्षियों और मुख्य आरक्षियों को अलग थानों में मिली तैनाती

जिले को अपराध मुक्त करने के प्रयास में एसएसपी का जहां बेहतर प्रदर्शन देखने को मिल रहा है। तो वहीं दूसरी तरफ जिले का एक थाना क्षेत्र ऐसा रहा जहां की पुलिस सुस्त दिखाई दी। एसएसपी मुनिर जी की ओर से भी कई तरह के विशेष अभियान भी चलाए गए हैं। लेकिन इसके बावजूद इंदिरापुरम थाना पुलिस की लापरवाही कहीं ना कहीं पुलिस की कार्यक्षेली पर सवालिया निशान लगा रही थी। ऐसे में लापरवाह पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी लगातार एक्शन में आए एसएसपी ने थाना इंदिरापुरम में करीब 1 साल से तैनात 82 आरक्षण और मुख्य आरक्षियों को लाइन हाजिर करते हुए पुलिस लाइन भेज दिया है। साथ ही साथ पुलिस लाइन से 84 आरक्षी और मुख्य आरक्षियों को थाना इंदिरापुरम में तैनाती दी गई है। इसके अलावा पिछले काफी समय से तैनाती नहीं मिलने वाले 77 आरक्षी व मुख्य आरक्षियों को विभिन्न थानों में तैनात किया गया है।

बदल दी गाजियाबाद जिले में कानून व्यवस्था की तस्वीर

दरअसल गाजियाबाद में बढ़ते अपराधिक ग्राफ और कानून का अपराधियों में से खत्म होता खौफ देख पहले तो प्रदेश के सीएम योगी ने कार्यवाहक एसएसपी के तौर पर आईपीएस अधिकारी मुनिराज जी को जिले के एसएसपी पद की बागदोर सौंपी थी। मुनिराज जी ने कार्यवाह एसएसपी के तौर पर ना केवल गाजियाबाद पुलिस के एसएसपी पद को संभाला बल्कि अपनी काबिले तारीफ कार्रवाई के दम पर जिले के शातिर बदमाशों के खिलाफ मौर्चा खोलते हुए ताबड़तोड़ कार्रवाई भी। एसएसपी ने महज महीने भर के अपने कार्यकाल के अंदर ही जिले में शातिर अपराधियों के मन से खत्म होते पुलिस के खौफ को एक बार फिर से जगा दिया था। आईपीएस मुनिराज जी की कार्रवाई और बेहतरीन कार्य को देखते हुए ही आईपीएस मुनिराज जी को कार्यवाहक से स्थाई तौर पर वरिष्ठ एसएसपी नियुक्त कर दिया गया था। 

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment