Smart Policing

यूपी में अपराधियों की कुंडली निकालना होगा आसान, अब 'त्रिनेत्र एप' में जुड़ेंगे नए फीचर

यूपी में अपराधियों की कुंडली निकालना होगा आसान, अब 'त्रिनेत्र एप' में जुड़ेंगे नए फीचर

अब यूपी में किसी भी बदमाश के बारे में जानने के लिए फाइलें खंगालने की जरूरत नहीं होगी। दरअसल, एसटीएफ एडीजी अमिताभ यश ने त्रिनेत्र एप को ज्यादा बेहतर और प्रभावी बनाने के लिए इसमें कई नए फीचर्स जोड़ने का प्रस्ताव तैयार किया है। करीब 5 करोड़ रुपये का ये प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। अब इस एप में बदमाशों की हर डिटेल भी जोड़ी जाएगी। ताकि, इनकी कुंडली तलाशना और आसान हो जाए। 

एडीजी कर रहे तैयारी


जानकारी के मुताबिक, दोबारा उत्तर प्रदेश की कमान संभालने के बाद सीएम योगी ने त्रिनेत्र एप को और एडवांस बनाने के निर्देश दिए थे। जिसके अंतर्गत अब एसटीएफ यूपी पुलिस के इस एप में कई नए फीचर्स जोड़कर इसे इंटरनेशनल लेवल का एप बनाने की तैयारी कर रही है। एसटीएफ ने एप में एक नया फीचर जोड़ने की भी तैयारी की है। जिसके बाद किसी अपराधी के जेल से छूटने पर उस अपराधी के जिले की पुलिस और उसके थाना क्षेत्र के पुलिसकर्मियों को अलर्ट मैसेज भेजा जाएगा। इस मैसेज से पुलिस को ये पता लग जाएगा कि अपराधी जेल से बाहर है और उस पर नजर रखने की एक योजना तैयार की जा सकेगी।

क्या है ये ऐप


बता दें कि, त्रिनेत्र यूपी पुलिस का एप है, जिसमें अपराधियों का ब्यौरा दर्ज रहता है। इस एप का एक्सेस हर जिले के पुलिस अधिकारियों के पास है। कोई भी अपराधी गिरफ्तार होता है तो उसके नाम, फोटो, उम्र, पते और व्यवसाय के साथ ही परिवार के सदस्यों की जानकारियां एप पर अपलोड कर दी जाती है।

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment