Crime

बेटे की मौत की जांच कराने के लिए दर-दर भटक रहा एक परिवार

बेटे की मौत की जांच कराने के लिए दर-दर भटक रहा एक परिवार

एक बहन अपने भाई के लिए इंसाफ की मांग कर रही है। इस बहन का आरोप है कि उसकी भाभी ने संपत्ति हड़पने के लिए उसके भोले-भाले भाई की हत्या करवाकर नेचुअरल डेथ बता दिया। जबकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में साफ-साफ लिखा है कि उसके भाई के शरीर पर चोटों के कई निशान पाए गए थे। वहीं पीड़ित बहन का आरोप है कि उसकी भाभी चरित्रहीन है उसके गुंडों से नजायाज रिश्ते हैं। इस वजह से वह उसके परिवार को धमकाती और डराती रहती है। पीड़िता का कहना है कि उसका परिवार उक्त महिला के खिलाफ कई बार थानों में शिकायत भी कर चुके हैं लेकिन उनकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। इतना ही नहीं  सीएम जनसुनवाई पोर्टल पर कई बार गुहार लगाने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हुई। हर तरफ से हताश बहन ने बुधवार को एसएसपी कार्यालय पहुंचकर इंसाफ की गुहार लगाई है। साथ ही कहा कि अगर उन्हे इंसाफ नहीं मिला तो वह आत्महत्या कर लेंगी। फिलहाल एसएसपी ने मामले में कार्रवाई का भरोसा दिया है। 

OTHER VIDEO :

जानिए पूरा मामला

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में रहने वाले 36 साल के एक युवक राजकुमार पुत्र बैनी शंकर, निवासी थाना नरौरा क्षेत्रान्तर्गत मौ. उमेशपुरी, एसएपीएस रोड़ की मौत 10 फरवरी 2019 को हुई थी। राजकुमार की पत्नी प्रीति ने अपने ससुराल वालों को बताया था कि राजुकमार की मौत प्राकृतिक है। लेकिन मृत राजकुमार के परिवार को बहू की ये बात गले से नीचे नहीं उतर रही थी। क्योंकि मौत से एक दिन पहले ही 9फरवरी को  वह अपनी पत्नी प्रीति के साथ शादी में गया था। अगले दिन तड़के सुबह 3 बजे राजकुमार उस घर में वापस आया जहां वह अपनी पत्नी प्रीती और उसके प्रेमी योगेश के साथ रह रहा था। लेकिन सुबह 10 बजे के आस-पास प्रीती ने सभी को फोन कर जानकारी दी कि राजकुमार की मौत हो गई । अचानक ये खबर सुनकर सबके पैरों तले जमीन खिसक गई थी। किसी को राजकुमार की अचानक मौत होने पर यकीन नहीं हो पा रहा था। 

मृत राजकुमार के परिजनों का आरोप है कि राजकुमार को साजिश के तहत मौत के घाट उतारा गया है। परिजनो का कहना है कि 9 तारीख की रात तक वह एकदम ठीक-ठाक था अचानक ऐसा क्या हुआ कि घर लौटते ही उसकी मौत हो गई। वहीं परिजनों ने राजकुमार की हत्या का आरोप उसकी पत्नी और उसके प्रेमी योगेश पर लगाया है। परिजनो के मुताबिक उनकी बहू का प्रेमी करीब एक साल से उनके घर रहने लगा था। राजकुमार ने कई बार इसका विरोध भी किया। इस बार को लेकर कई बार तीनो में कहासुनी भी हो चुकी थी। परिजनों का आरोप है कि इसी बात को लेकर 22 नवंबर 2018 को भी राजकुमार उसकी पत्नी प्रीती और उसके प्रेमी योगेश में विवाद हुआ था। जिसके बाद प्रीती और योगेश ने राजकुमार के साथ काफी मारपीट भी की थी। उस समय राजकुमार ने थाने में शिकायत की थई और पुलिस भी मौके पर गई थी लेकिन पुलिस ने वहीं मामले को रफा-दफा कर दिया। पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई न किए जाने के चलते प्रीती और उसके प्रेमी योगेश के हौंसले बलुंद हो चले थे। 

OTHER VIDEO :

परिजनो के मुताबिक 10 फरवरी 2019 की रात में योगेश और प्रीती और बब्बी लाल पुत्र पुरन चंद निवासी ग्राम सिमथला थाना अतरौली जिला अलीगढ़ ने राजकुमार के साथ जान से मारने की नीयत से मारपीट की और उसके सिर व छाती में गंभीर चोटें पहुंचाई थी।  ऑटोपसी रिपोर्ट में साफ-साफ लिखा हुआ है कि उसके शरीर पर चोटों के निशान थे। वहीं बेटे की अचानक मौत से गमगीन परिजनों ने थानें में हत्या का मुकदमा दर्ज कराने की कई बार कोशिश की लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हुई। हर बार उन्हे थाने से लौटा दिया गया। वहीं परिजनों का आरोप है कि उनकी बहू प्रीती ने गुंडे भी पाल रखे हैं और उसके राजनीति रसूख भी हैं जिसके चलते वह उन्हे धमकाती और डराती रहती है। इस परिवार का कहना है कि वह उनकी संपत्ति को हड़पने के लिए हर तरह के हथकंडे अपना रही है। और उन्हे उक्त महिला से जान-माल दोनो का डर है। पीड़ित परिवारवालों का ये भी आरोप है कि प्रीती राजकुमार की मौत के बाद भी अपने घर में अपने प्रेमी योगेश को रखे हुए है। योगेश पर पूर्व में कई हत्याओं के आरोप है। परिजनों का कहना है कि प्रीती ने उसी के साथ मिलकर राजकुमार की हत्या कर दी और बाद में उसे प्राकृतिक मौत का रूप दे दिया। 
 
वहीं मृत राजकुमार की बहन का कहना है कि उसके मां-बाप बूढे हैं घर में एक कुंवारी बहन है और एक छोटा भाई है। सभी प्रीती से खौफजदा रहते हैं। उन्हे हर पल कुछ अनहोनी होने का डर सताता रहता है। मृत राजकुमार की बहन का कहना है कि प्रीती बेहर शातिर महिला है। संपत्ति हड़पने के लिए वह उसके बूढ़े माता-पिता पर पूर्व में कई तरह के झूठे आरोप लगा चुकी है जो की कोर्ट में चल रहे हैं। उक्त महिला मानसिक और शारीरिक दोनो तरह से उसके परिवार को प्रताड़ित कर रही है।  वे इंसाफ की आस में दर-दर भटक रहे हैं। पुलिस ने तो किसी भी तरह की मदद करने से इंकार कर दिया है। वहीं सीएम जनसुनावाई पोर्टल में भी कई बार शिकायत करने के बाद कोई सुनवाई नहीं हुई।

OTHER VIDEO :

पीड़ित पक्ष का आरोप है कि 23 अप्रैल 2019 को तीनो आरोपी, प्रीती, योगेश और बब्बी लाल उनके घर पहुंचे और धमकाने लगे कि राजकुमार की हत्या हमने ही की है और रिपोर्ट कराई तो तुम्हारी भी हत्या कर दी जाएगी। तीनों आरोपियों की धमकी से खौफजदा पीड़ित पक्ष ने 24 अप्रैल 2019 को एसएसपी बुलंदशहर से मिलकर पूरी घटना की जानकारी दी और साथ में मामले की तहरीर भी दी, जिस पर एसएशपी ने नरौरा थनाध्यक्ष को उक्त प्रकरण में तत्काल प्रभाव से मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया साथ ही कहा कि आरोपियो के खिलाफ जरूरी कार्रवाई करे। एसएसपी से आदेश मिलते ही नरौरा थानाध्यक्ष ने मुकदमा दर्ज कर दिया लेकिन एक महीना बीत जाने के बाद भी पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। पुलिस की इस कार्यशैली से आहत पीड़ित पक्ष ने बुधवार को एसएसपी से मिलकर सारी बात बताई और संबंधित मामले का शिकायती पत्र सौंपकर इंसाफ की गुहार लगाई है। 

शिकातयती पत्र में पीड़ित पक्ष ने कहा है कि आरोपी खुलेआम धमकी देते हुए घूम रहे हैं और उन्हे आरोपियों से जान-माल दोनों का खतरा है और अगर जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया गया तो वे परिवार में किसी की भी हत्या करवा सकते हैं। वहीं पीड़ित पक्ष ने ये भी कहा कि अगर जल्द ही उनकी शिकायत की सुनवाई नहीं हुई तो उनके पास आत्महत्या करने के अलावा कोई चारा नहीं बचेगा।

लेखक

Nisha Sharma

Police Media News

Leave a comment