Khaki Connection

IPS-IAS दंपती के घर पर 56 कांस्टेबल ड्यूटी पर तैनात... जूते पॉलिश, कपड़े धोने और पोछा लगाने तक का करते हैं सारा काम

IPS-IAS दंपती के घर पर 56 कांस्टेबल ड्यूटी पर तैनात... जूते पॉलिश, कपड़े धोने और पोछा लगाने तक का करते हैं सारा काम

एक सरकारी अफसरशाही किसी मुगले आजम से कम नहीं... जी हां किसी आईएएस या आईपीएस अधिकारी को मिलने वाले बंगले पर काम करने वाले लोगों का अनुमान लगाया जाए तो हर कोई 4 या 5 ही बताएगा। लेकिन मध्य प्रदेश में तैनात एक आईएएस और आईपीएस दंपत्ति के बंगले पर भी अनुमान लगाए तो 1,2,3,4 नहीं बल्कि पूरे 56 कांस्टेबल ड्यूटी पर तैनात रहते हैं। 

आप भी जानिए क्या काम करते हैं 56 कांस्टेबल

यहां सोचने वाली बात यह भी है कि इतने कांस्टेबल एक साथ अधिकारी दंपत्ति के घर पर आखिर क्यों तैनात हैं? दरअसल भोपाल जिले में विशेष सशस्त्र बल (SAF) मध्य क्षेत्र भोपाल की DIG कृष्णा वेणी देशावतु IPS अधिकारी के सरकारी बंगले पर 56 कॉन्स्टेबल सेवा में लगे हुए है। जो कुक से लेकर माली, तो कोई धोबी और झाडू पोछे व जूते पॉलिश करने तक का काम करता है। वहीं DIG का कहना है कि नियम से अधिक एक भी कॉन्स्टेबल तैनात नहीं है। ऐसे में मामला जब सुर्खियों में छा चुका है। तो SAF के ADG साजिद फरीद शापू इस बारे में बात करने तक से इंकार कर चुके हैं।

इतना करोड़ रूपये महीने का सरकार करती है खर्च

दरअसल इस समय अफसरों के कपड़े धोने, घर की सफाई, जूते पॉलिश करने वाले ऐसे नॉन टेक्निकल ट्रेड आरक्षकों की संख्या इस समय मध्यप्रदेश में 5,500 है। जो बीते 10 साल से GD आरक्षक में पोस्टिंग को लेकर इंतजार कर रहे हैं। इनमें से कुछ 27 हजार से 67 हजार रुपए महीने के वेतन में शामिल हैं। देखा जाए तो हर महीने का 24 करोड़ रूपया इनके वेतन पर ही खर्च हो रहा है। सालाना वेतन खर्च देखा जाए तो 312 करोड़ रूपये आंका गया है।

पुलिसिंग प्रणाली हो रही है प्रभावित

 ऐसे में जहां सरकार करोड़ों रुपए घरेलू काम काज में आरक्षकों के ऊपर खर्च कर रही है। तो वहीं दूसरी तरफ मैदानी अमले की भारी कमी के कारण पुलिसिंग प्रणाली भी अच्छी खासी प्रभावित हो रही है। 

मामले को लेकर क्या कहते हैं ADG

IPS अधिकारियों के बंगले पर ट्रेड आरक्षकों की तैनाती को लेकर ADG SAF साजिद फरीद शापू मामले में चुप्पी साधे हुए है। बंगले पर ट्रेड आरक्षकों सहित 56 पुलसिकर्मियों की तैनाती को लेकर IPS कृष्णा वेणी देशावतु का कहना है कि मेरे बंगले सहित किसी भी अधिकारी के बंगले पर नियम के मुताबिक ही ट्रेड आरक्षक तैनात हैं। 

करते हैं तमाम काम

2007 बैच की IPS अधिकारी कृष्णा वेणी देशावतु के यहां नियमानुसार 2 अर्दली (फोर्थ ग्रेड कर्मचारी) रखे जा सकते हैं। 74 स्थित उनका बंगला आवास D-10 पर हमेशा से ही भीड़ रहती है। जो सभी शिफ्ट के हिसाब से घरेलू काम जैसे बेड-टी तैयार करना, खाना बनाना, झाड़ू-पोछा, कपड़े धोने और चौकीदारी जैसे काम करते हैं। इतना ही नहीं इनमें 4 माली भी शामिल हैं जो गार्डन को पूरी मुस्तैदी से मेंटेन करते हैं। कृष्णा वेणी देशावतु के पति श्रीकांत बनोट माध्यमिक शिक्षा मंडल में हैं। इनके कोटे से 12 कर्मचारी बंगले पर रखे गए हैं।

बच्चों को पढ़ाते हैं और संभालते हैं

बंगले पर तैनात कांस्टेबल काम हर काम में नुपुण होने चाहिए। छोटी सी गलती मिलने पर इन्क्रिमेंट तक को रोक दिया जाता है। खुद की समस्या और बात रखने के लिए वर्दी में ऑफिस जाना पड़ता है। बंगले पर तैनात 6 महिला आरक्षकों की ड्यूटी बच्चों को संभालने व पढ़ाने लिखाने की है। एक महिला कॉन्स्टेबल तो आईपीएस मैडम के साथ मॉर्निंग वॉक पर जाती है। महिला आरक्षकों में एक जिला पुलिस बल देवास की और दूसरी GRP इंदौर की है। अन्य 23 बटालियन की हैं। ये कॉन्स्टेबल मौखिक आदेश पर बंगले पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

लेखक

Madhvi Tanwar

Police Media News

Leave a comment