Smart Policing

टॉप 3 ऑफ द वीक

टॉप 3 ऑफ द वीक

पिछले दिनों जहां बेखौफ बदमाशों ने पुलिस को चुनौती देते हुए ताबड़तोड़ वारदातों को अंजाम देकर उत्तर प्रदेश को दहला दिया तो वहीं पुलिस ने भी सक्रियता और मुस्तैदी दिखाते हुए संगीन वारदातों का खुलासा कर शातिर बदमाशों को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया। पुलिस मीडिया न्यूज अपने आज के टॉप 3 ऑफ द वीक कॉलम के जरिए आपको यूपी पुलिस द्वारा सुलझाए गए तीन ऐसे केसों के बारे में बताने जा रही है जो काफी पेचिदा थे। कहीं बदमाशों ने अपहरण कांड को अंजाम दिया था तो कही करोड़ों की लूटकांड को। लेकिन पुलिस ने भी सभी सुरागों और कड़ी दर कड़ी जोड़ते हुए बदमाशों को धर दबोचा। तो आज हम सबसे पहले बताएंगे की कैसे सहारनपुर पुलिस ने चंद घंटों में ही एक मासूम के अपहरण की गुत्थी को सुलझा दिया। उसके बाद हम बताएंगे कि कैसे मेरठ में मणप्पुरम गोल्ड लोन फाइनेंस कंपनी से हुई करोड़ों की लूट का एडीजी जोन मेरठ प्रशांत कुमार की पुलिस ने 24 घंटे के अंदर पर्दाफाश कर दिया। और अंत हम बताएंगें कि कैसे बाराबंकी की पुलिस ने करोड़ों की मारफीन के साथ दो तस्करों को धर दबोचा।  

केस नंबर-1 चंद घंटो में सहारनपुर पुलिस ने खोज निकाला मासूम

आपको बता दें कि सहारनपुर के बड़गांव थाना क्षेत्र के गांव टपरी से एक निर्माणधीन मकान में रात के वक्त अपनी माँ के साथ सो रहे एक बच्चे को अपहरणकर्ताओं ने अगवा कर लिया था। बच्चे का नाम देव था।  बताया गया की मकान के निर्माणधीन होने के कारण मकान में खिड़कियां नहीं लगी थी। जिसके बाद आशंका जताई गई कि अपहरणकर्ता खिड़कियों के रास्ते ही मकान के अंदर घुसे और देव का अपहरण कर ले गए। वहीं जब देर रात मां की नींद खुली को उसने देखा की उसका लाड़ला बगल में नहीं है। जिसके बाद परिजनों ने उसकी खोजबीन शुरू की लेकिन काफी देर ढूंढ़ने की बाद भी देव नहीं मिला तो बच्चे के पिता ने पुलिस को अपहरण की सूचना दी। अपहरण की सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंच गयी और जांच शुरू कर दी। और फिर पुलिस ने कुछ संदिग्धों को हिरासत में लिया। उनसे कड़ी पूछताछ के बाद पुलिस को कुछ अहम सुराग मिले जिनके आधार पर पुलिस ने गंगोह इलाके में छापेमारी की और मुठभेड़ के बाद बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया। इसके साथ ही पुलिस ने  3 अपहरणकर्ताओं को हथियारो के साथ गिरफ्तार भी कर लिया।  वहीं इस मामले के सम्बन्ध में एसएसपी सहारनपुर ने बताया कि बदमाशों ने बच्चे के परिजनों से फोन पर 20 लाख की फिरौती मांगी थी। परिजनों की सूचना के बाद जिले भर की पुलिस को बच्चे की सकुशल बरामदगी के लिए लगाया गया था। और फिर पुलिस को कुछ अहम सुराग हासिल हुए। सुराग के आधार पर जब पुलिस ने छापेमारी की तो पुलिस और अपराधियों के बीच मुठभेड़ हो गई जिसके बाद बच्चे को सकुशल बरामद किया गया। इस मुठभेड़ में सर्विलांस के दरोगा भी घायल। वहीं  इस अपहरणकांड का चंद घंटों में खुलासा करने पर एसएसपी ने पुलिस टीम को 25 हज़ार नकद इनाम की घोषणा भी की। 

केस नंबर-2  ADG मेरठ जोन की पुलिस ने 24 घंटे में कर दिया करोड़ो की लूट का खुलासा

आपको बता दें कि बीते दिनों मेरठ के बेगम पुल के आपका बाजार मार्केट स्थित मणप्पुरम ब्रांच में हथियारों से लैस बदमाशों ने धावा बोलकर दफ्तर के कर्मचारियों को बंधक बना लिया था और फिर इन बदमाशों ने साढे 15 किलो सोना लूट लिया था,जिसकी कीमत 5:15 करोड रुपए बताई गई। वारदात को अंजाम देने में बदमाशों को करीब 5 मिनट लगे थे। वहीं इस करोड़ों की लूट के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था। पुलिस मुखिया ओपी सिंह ने खुद इस मामले में मेरठ जोन एडीजी प्रशांत कुमार सहित आला अधिकारियों को घटना के त्वरित अनावरण और घटना में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए निर्देश भी दिए थे। जिसके बाद आलाअधिकारियों ने भी सक्रियता दिखाते हुए एसटीएफ और मेरठ एवं जनपद पुलिस की संयुक्त टीमें गठित की गई और मामले की जांच शुरू कर दी गई। वहीं पुलिस पूछताछ में कंपनी की कर्मचारियों ने बताया कि दोनों बदमाशों ने मुंह पर कप़ड़ा बांधां हुआ था और वे स्थानीय भाषा में बोल रहे थे। उन्होने ये भी बताया कि लूट की वारदात के दौरान बदमाशों का एक साथी कंपनी के दफ्तर के नीचे भी मौजूद था। कर्मचारियों ने ये भी बताया था कि जाते समय बदमाशों की बाइक स्टार्ट नहीं हुई, जिसके बाद लूट के सोने के साथ ये पैदल ही नौ दो ग्यारह हो गए थे। कंपनी के कर्मचारियों से पूछताछ के अलावा मेरठ पुलिस ने कंपनी और आसपास के सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले और बदमाशों का सुराग लगाने में जुट गई थी।और आखिरकार मुखबिर ने पुलिस को आरोपियों के बारे में सूचना दी। जिसके बाद मुखबिर की सूचना के आधार पर पुलिस ने मुख्‍य आरोपी भगत सिंह पुत्र धूम सिंह निवासी ग्राम छुर सरधना हाल निवासी वंडर सिटी मेरठ,सुशील पुत्र सत्‍यवीर निवासी ग्राम दादरी थाना दौराला,दीपक पुत्र रामफल निवासी दादरी थाना दौराला को गिरफ्तार किया है। वहीं पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों के पास से एक अदद मोबाइल, एक सफेद रंग की सैंट्रो कार, एक पैशन मोटर साइकिल के अलावा 4.042 किलोग्राम वजन के सोने के आभूषण और आठ लाख पचास हजार नगद बरामद किए।  अभी इनके चार साथी फरार बताए जा रहे हैं, जिन्‍हें पुलिस जल्द पकड़ने का दावा कर रही है  वहीं एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार के नेतृत्व में मेरठ पुलिस द्वारा करोड़ो के सोने की लूट का खुलासा बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है। गौरतलब है कि सोना लूट के बाद ग्राहकों में बैचेनी हो गई थी। बड़ी संख्या में लोन लेने वाले ग्राहकों ने कंपनी में पहुंचकर पूछताछ भी की थी। लेकिन जब पुलिस ने मामले का खुलासा कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है तो सभी राहत की सांस ले रहे हैं। वहीं लूटकांड का खुलासा करने और आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को अपर पुलिस महानिदेश मेरठ जोन द्वारा 50,000 रूपये का ईनाम देने की घोषणा भी की गई है इसके साथ ही अर्हृता के आधार पर प्रशंसा चिंह के लिए भी संस्तुति की गई है।

केस नंबर -3 बाराबंकी पुलिस के गिरफ्त में करोड़ो की मारफीन समेत दो तस्कर

उत्तर प्रदेश में पुलिस इन दिनों मादक पदार्थ की तस्करी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर रही है। वहीं  बीते कुछ दिनों पहले भी बाराबंकी पुलिस ने करोड़ो रुपये की मारफीन बरामद की थी। इस दौरान पुलिस ने कई शातिर तस्करों को गिरफ्तार किया था। और एक बार फिर सफदरगंज पुलिस ने 12 किलो मारफीन के साथ दो शातिर तस्करों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने बरामद की गई मारफीन की जांच करवाई। पुलिस के मुताबिक अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत 40 करोड़ के आस-पास आंकी गई है। सफदरगंज थानाध्यक्ष विवेक सिंह की टीम ने जिले में अवैध मादक पदार्थों की तस्करी के खिलाफ मुहिम चला रखी थी। जिसकी अंतर्गत इन दोनों तस्करों को गिरफ्तार किया गया।

लेखक

Nisha Sharma

Police Media News

Leave a comment