Crime

गाजियाबाद की सड़कों पर नहीं हैं महिला सुरक्षित, अब डीयू की छात्रा से NH-9 पर ऑटोगैंग ने बंधक बनाकर लूटपाट की

गाजियाबाद की सड़कों पर नहीं हैं महिला सुरक्षित, अब डीयू की छात्रा से NH-9 पर ऑटोगैंग ने बंधक बनाकर लूटपाट की

उत्तर प्रदेश के जिला गाजियाबाद में महिलाएं खौफ के साए में जीने को मजबूर हैं। आलम ये है कि हर दिन गाजियाबाद की सड़कों पर महिलाओं के साथ आपराधिक वारदातें हो रही हैं। कुछ दिन पूर्व  जहां एक महिला डेंटिस्ट ऑटो लिफ्टर गैंग की शिकार बनी थी तो अब एक बार फिर दिल्ली यूनिवर्सिटी (डीयू) के एक कॉलेज की छात्रा के साथ एनएच-9 पर ऑटो गैंग ने बंधक बनाकर लूटपाट की। जानकारी के मुताबिक चार बदमाशों ने छात्रा को बुरी तरह पीटा और छेड़छाड़ भी की और फिर ये बदमाश छात्रा को विजयनगर थाना क्षेत्र में फेंककर भाग गए। और हैरानी की बात ये हैं कि महिलाओ की सुरक्षा के झूठे दावे करने वाली गाजियाबाद पुलिस इस मामले में भी कई घंटे सीमा विवाद में ही उलझी रही। बाद में विजयनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज की गई।

जानिए पूरा मामला 

जानकारी के मुताबिक गाजियाबाद के इंदिरापुरम की एक सोसायटी में रहने वाली छात्रा डीयू के एक कालेज में बीकॉम प्रथम वर्ष में पढ़ती है। उसके पिता दिल्ली स्थित एक इंश्योरेंस कंपनी में एडवाइजर हैं। पीड़िता के पिता के मुताबिक 12 मार्च को उनकी बेटी के कॉलेज में डांस फेस्टिवल था। इस वजह से वह कॉलेज से घर लौटने में लेट हो गई। वह रात करीब 10 बजे मेट्रो से नोएडा के इलेक्टॉनिक सिटी स्टेशन पर उतरी और वहां से पैदल एनएच-9 पर पहुंचीं। इसके बाद वह इंदिरापुरम जाने के लिए एक ऑटो में सवार हुई। ऑटो में ड्राइवर समेत दो युवक पहले से थे। छात्रा सवारी समझकर ऑटो में बैठ गई। लेकिनआगे जाकर दो अन्य युवक भी ऑटो में बैठ गए। वह ऑटो को इंदिरापुरम की बजाय विजयनगर की ओर ले जाने लगे और लूटपाट शुरू कर दी। बदमाशों ने छात्रा के हाथ-पैर और आंखों पर पट्टी बांधकर उसे सीट के पीछे डाल दिया। बदमाशों को छात्रा के पास सिर्फ 200 रुपये मिले जिसके बाद बदमाशों ने उसे बुरी तरह पीटा और विश्वकर्मा रोड पर फेंककर भाग गए।

पुलिस पीडितों को टरकाती रही

वहीं सूचना पर छात्रा के पिता व परिजन पहुंचे। वहीं पीड़ितों का आरोप है कि पुलिस उन्हें टरकाती रही और घटना इंदिरापुरम क्षेत्र की बताकर पल्ला झाड़ती रही। एसएसपी उपेंद्र कुमार अग्रवाल ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज कर बदमाशों की तलाश की जा रही है।
 

कुछ दिन पहले महिला डेंटिस्ट हुई थी ऑटो लिफ्टर गैंग की शिकार

गौरतलब है कि गाजियाबाद में डीयू कॉलेज की छात्रा के साथ हुई घटना पहली घटना नहीं है कुछ दिन पूर्व ही गाजियाबाद के वैशाली से ऑटो में सवार महिला डेंटिस्ट के साथ भी ऑटो लिफ्टर गैंग ने 20000 रूपये  लूट कर उसके साथ रेप करने की भी कोशिश की थी। महिला ने अपने आप को गर्भवती बता कर खुद को बदमाशों के चंगुल से छुड़वाया था पुलिस में एफ आई आर दर्ज करवाने के बाद भी अब तक पुलिस बदमाशों का कोई सुराग नहीं लगा पाई है 

महिलाओं की सुरक्षा पर फिर खड़े हुए सवाल

लगातार हो रही घटनाओं ने एक बार फिर गाजियाबाद पुलिस के महिला सुरक्षा के तमाम दावों को झूठा साबित कर दिया है। हैरानी की बात है कि जिले में लगातार महिला अपराध का ग्राफ बढ़ रहा है और पुलिस बदमाशों और शातिर अपराधियों की नकेल कसने में पूरी तरह नाकाम साबित हो रही है या यूं कहें कि पुलिस सिर्फ थाने और चौकियों में कुर्सी पर बैठी-बैठी ही महिला सुरक्षा की बातें कर रही है क्योंकि हकीकत में तो हर दिन हो रही संगीन वारदातों ने तो जिले की सड़कों पर चलने वाली महिलाओं की सुरक्षा पर प्रश्न चिंह लगा दिया है। 

संवाददाता

Lalit Negi

Police Media News

Leave a comment