Transfer

77 दिन बाद वापसी करने वाले CBI चीफ आलोक वर्मा को 36 घंटे के भीतर दुबारा हटाया गया

77 दिन बाद वापसी करने वाले CBI चीफ आलोक वर्मा को 36 घंटे के भीतर दुबारा हटाया गया

मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद 77 दिन बाद काम पर लोटे सीबीआई चीफ अलोक वर्मा को 24 घंटे के भीतर सीबीआई चीफ के पद से हटाया गया। अलोक वर्मा को अब फायर सेफ्टी विभाग का महानिदेशक बनाया गया है। वहीं नागेश्वर राव को सीबीआई का अंतरिम चीफ नियुक्त किया गया है। यह फैसला गुरुवार को पीएम मोदी की अध्यक्षता में करीब दो घंटे तक चली चयन समिति की बैठक में लिया गया। 

जानिए क्या है पूरा मामला 

जानकारी के मुताबिक इससे पहले बुधवार को हुई बैठक बेनतीजा निकली थी। सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा पर फैसले के लिए बनाई गई सेलेक्ट कमिटी में सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस की तरफ से जस्टिस सीकरी, सरकार की तरफ से खुद पीएम मोदी और लोकसभा में दूसरी सबसे बड़ी पार्टी के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे शामिल थे। इसके बाद गुरुवार को करीबन 2 घंटे तक चली इस बैठक में वर्मा पर राकेश अस्थाना के लगाए गए करप्शन के गंभीर आरोपों पर भी चर्चा हुई। सीबीआई बनाम सीबीआई के इस केस से जुड़ी हर जानकारी कमिटी के सामने रखी गई थी।  इस बैठक में मल्लिकार्जुन खड़गे ने कुछ आपत्तियां भी दर्ज कराई. लेकिन अंत में आलोक वर्मा को हटाए जाने का फैसला लिया गया.

मंगलवार को हुए थे पद पर बहाल

बतादें कि सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को आलोक वर्मा को राहत देते हुए उन्हें सीबीआई चीफ के पद पर बहाल कर दिया था, हालांकि कोर्ट ने अपने फैसले में सीबीआई निदेशक के रूप में आलोक वर्मा पर नीतिगत फैसले लेने पर रोक लगा दी थी। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद बुधवार को 77 दिनों बाद अपना कार्यभार संभाल ने आये थे। 

लेखक

Sandhya mishra

Police Media News

Leave a comment