Smart Policing

जिसे बेटे के अपहरण का झूठा मुकदमा दर्ज कराया वो कर रहा था नौकरी, पुलिस ने किया भंडाफोड़

जिसे बेटे के अपहरण का झूठा मुकदमा दर्ज कराया वो कर रहा था नौकरी, पुलिस ने किया भंडाफोड़

बदायूं जिले से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक यहा एक पिता ने रंजिशन अपने रिश्तेदारों को फंसाने के लिए अपने बेटे के अपहरण का झूठा मामला दर्ज करा दिया जबकि उसका बेटा तो हरियाणा में नौकरी कर रहा था। इस कथित अपहृत बेटे ने वीडियो कॉलिंग कर अपने परिवारवालों से बात की तो पुलिस को भनक लग गई और पुलिस ने इस झूठे अपहरण की पटकथा का भंडाफोड़ कर दिया 

जानिए पूरा मामला

मामला उझानी थानां इलाके के हरिहरपुर का है। जानकारी के मुताबिक यहां रहने वाले नारायण के पिता सुंदरलाल ने थाने में अपने बेटे को अगवा किए जाने की सूचना दी और अगवा करने का आरोप अपने दूसरे बेटे रणवीर के साले और उसके लड़को पर लगाया और मुकदमा दर्ज करा दिया । लेकिन जिस नारायण के अपहरण का मुकदमा उसके पिता ने थाने में दर्ज कराया था वो असलियत में हरियाणा राज्य के पानीपत में एक गत्ता फैक्ट्री में नाम बदलकर नौकरी कर रहा था ।पुलिस इस मामले पर निगाह बनाए हुए थी और फिर एक दिन कथित अपहृत नारायण ने अपने परिवार से वीडियोकॉलिंग से बात की तो पुलिस को इसकी भनक लग और अपहरण के नाटक का पर्दाफाश हो गया।

पुलिस ने आरोपियो को भेजा जेल

पुलिस का कहना है कि घटना के कथित अपहृत नारायण उसके पिता सुंदरलाल भाई रणवीर बहनोई हरिसिंह और उसके दोस्त रवि के खिलाफ 120 बी /195/419 के तहत मामला दर्ज कर जेल भेज दिया गया है वहीं आरोपी नारायण ने खुद को सारे घटनाक्रम से अंजान बताया। उसने कहा कि उसे कोई जानकारी नही थी कि उसके पिता ने उसके अपहरण का मामला दर्ज करा दिया है जबकि वो तो अपनी मर्जी से बिना घर वालो को बताए ही नौकरी के लिए चला गया था।

लेखक

Sandhya mishra

Police Media News

Leave a comment