Others

जब ट्रेन की पटरी पर बिछ गयीं लाशें....

जब ट्रेन की पटरी पर बिछ गयीं लाशें....

- किसी का हाथ नहीं तो किसी का सिर नहीं

- लाशों को देखने की हिम्मत नहीं

पंजाब के अमृतसर में दशहरा पर्व पर बड़ा ट्रेन हादसा हुआ है जिसमें 100 से ज्यादा लोगों की मौत की आशंका है. अभी तक 50 से ज़्यादा मौतों की पुष्टि सरकारी आंकड़े कर चुके हैं. घटना जोड़ा फाटक के करीब की है जहां ट्रैक के पास रावण का पुतला दहन किया जा रहा था. रावण दहन को देखने के लिए सैकड़ों लोगों की भीड़ रेल ट्रैक व उसके आसपास जमा थी.

पुलिस-प्रशासन के अधिकारी 

जानकारी के मुताबिक रावण के पुतले में आग लगी तो आतिशबाज़ी के तेज़ शोर के बीच वहाँ लोगों की भारी भीड़ थी. तभी अचानक पठानकोट से अमृतसर की तरफ जा रही ट्रेन ट्रैक पर मौजूद लोगों को रौंदती हुई आगे बढ़ गयी. हादसे के बाद चारों तरफ क्षत-विक्षत शव नजर आ रहे थे, मरने वालों का आंकड़ा और ज़्यादा बढ़ने की आशंका है. फिलहाल मौके पर पुलिस-प्रशासन के अधिकारी और एंबुलेंस पहुंच गई हैं, राहत और बचाव का काम किया जा रहा है. प्रधानमत्री नरेंद्र मोदी व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित बड़े नेता घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं. गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी हादसे के बाद लगातार प्रदेश सरकार से संपर्क बनाये हुए हैं. 

हादसे के बाद भागी मंत्री की पत्नी

मौके पर मौजूद चश्मदीदों के मुताबिक रावण दहन के कार्यक्रम में पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू आयोजन में बतौर मुख्य अतिथि मौजूद थीं.  लोगों का आरोप है कि हादसे के बाद मौके से नवजोत कौर तुरंत निकल गयीं. स्थानीय लोगों ने कौर की इस हरकत में उनके खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी किया है.

खून से लथपथ लाशें

हादसा अमृतसर के जोड़ा फाटक के पास हुआ है. घटना स्थल से भयावह तस्वीरें आ रही हैं, जिसे हम आपको नहीं दिखा सकते. ट्रैक के आसपास खून से लथपथ लाशें बिखरी पड़ी हुई हैं. घटनास्थल पर मौजूद चश्मदीद बता रहे हैं कि ट्रेन की स्पीड बहुत ज्यादा थी, जबकि भीड़भाड़ वाले इलाके को देखते हुए इसकी रफ्तार कम होनी चाहिए. इस घटना को लेकर स्थानीय लोगों में काफी नाराजगी है.घटनास्थल के पास काफी लोग एकत्रित हो गए और स्वजनों की तलाश कर रहे हैं. मौके पर चारों तरफ लोगों के रोने-बिलखने की तस्वीरें देखी जा सकती हैं. मौके पर बचाव दल पहुंच गया है. बड़े पैमाने पर पुलिस बल को भी तैनात किया गया है.


5-5 लाख के मुआवजे का ऐलान

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हादसे पर गहरा दुख जताते हुए मुआवज का ऐलान किया है. अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर कहा कि राहत कार्य का जायजा लेने खुद अमृतसर जा रहा हूं. पंजाब सरकार ने मरने वालों के परिजनों के लिए 5-5 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि घायलों को मुफ्त इलाज दिया जाएगा और इसके लिए जरूरी निर्देश जारी किए गए हैं. प्रधानमंत्री और गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी पंजाब सरकार से लगातार संपर्क में है केंद्र सरकार ने प्रदेश सरकार को कहा की वो हर मदद के लिए तैयार है.

हादसे को लेकर किसी भी जानकारी के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है जो निम्न है: 0183 -2223171 , 0183 - 2564485 
   

संवाददाता

Ankit Tailor

Police Media News

Leave a comment