Smart Policing

बेशकीमती अष्टधातु मूर्तियां चुराने वाले शातिर गिरफ्तार

बेशकीमती अष्टधातु मूर्तियां चुराने वाले शातिर गिरफ्तार

फैजाबाद से बेशकीमती अष्टधातु की राम लक्ष्मण और सीता की चोरी हुई मूर्तियों को क्राइम ब्रांच और मवई पुलिस ने बरामद कर लिया है।  पुलिस ने मूर्ति चुराने वाले दो शातिरों को भी गिरफ्तार किया है। जबकि एक और चोर की पुलिस तलाश कर रही है। अंतर्रराष्ट्रीय बाजार में इन मूर्तियों की कीमत करोड़ों में आंकी जा रही है।

 

 जानिए पूरा मामला

फैजाबाद में 23 मई को थाना मवई क्षेत्र के बघेड़ी जंगल के बूढ़े बाबा मंदिर से अष्ठधातु की राम,लक्षमण और सीता की मूर्तियां चोरी हो गई थी। इस मामले में मंदिर के पुजारी जगदेव दास की तहरीर पर अज्ञात चोरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था। चोरी के बाद से ही पुलिस मूर्ति चोरी की घटना की गहन छानबीन कर रही थी। और फिर मुखबिर ने पुलिस को सूचना दी कि तीनों मूर्तियों को सफेद स्वीफ्ट कार से कुशहरी जंगल पुराना मोड़ रामसनेहीघाट बॉर्डर के रास्ते बेचने के लिए लखनऊ ले जाया जा रहा है। बस जानकारी मिलते ही स्वाट टीम प्रभारी मवई पुलिस ने दल बल के साथ कल्याण नदी के पुल पर नाकेबंदी कर दी और फिर कार को रोककर पूछताछ की । जिसके बाद कार में बैठे मूर्ति चोर भागने की कोशिश करने लगे लेकिन पुलिस बल की टीम ने दौड़ कर दो चोरों को धर दबोचा जबकि एक चोर भागने में कामयाब हो गया


अंतर्राष्ट्रीय बाजार में मूर्तियों की कीमत करोड़ों में

पुलिस ने चोरों के पास से तीनों बेशकीमती मूर्तियां, एक मोबाइल फोन एक देसी तमंचा और एक स्विफ्ट कार बरामद की है। पुलिस के हत्थे चढ़ा एक चोर गया प्रसाद अमेठी जनपद के जगदीशपुर का रहने वाला है और उसके खिलाफ जिले के इनायत नगर थाना में पांच और मवई थाने में दो मुकदमे दर्ज हैं तो वहीं दूसरा चोर उमेश दास यादव फैजाबाद के रिकाबगंज का रहने वाला है। पुलिस तीसरे चोर की धर-पकड़ के लिए जगह-जगह दबिश दे रही है। वहीं पुजारी जगदीश दास ने बताया कि बरामद हुई मूर्तियां 100 साल पुरानी है जिन्हे एक जमींदार ने मंदिर के लिए बनवाई थी आपको बता दें कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में इन मूर्तियों की कीमत करोड़ों में आंकी जा रही है।


लेखक

Nisha Sharma

Police Media News

Leave a comment