Crime

बेरोजगारी के ताने ने बना दिया हत्यारा

बेरोजगारी के ताने ने बना दिया हत्यारा

- बेरोजगारी के ताने से गुस्साए पति ने की पत्नी की हत्या

- बेरोजगारी के ताने ने पति को बना दिया हत्यारा

 
यूपी पुलिस ने 24 घंटे के अंदर एक और हत्याकांड का खुलासा करने में कामयाबी हासिल की है. बताया जा रहा है कि पत्नी के तानों से आजिज आकर पति ने ही उसकी हत्या कर दी थी.मामला गोरखपुर के तिवारीपुर की सूर्य विहार कॉलोनी का है जहां जीआरपी इंस्पेक्टर अजित सिंह की बहन और ब्यूटी पार्लर संचालिका रेनू सिंह की हत्या उसके पति सुनील सिंह ने ही की थी। पुलिस ने 24 घंटे में पर्दाफाश कर आरोपी पति को सलाखों के पीछे पहुंचा दि.। साथ ही उस बट्टे (लोढ़ा) को भी बरामद कर लिया जिससे रेनू को मारा गया था। 
 

पारिवारिक कलह के चलते पत्नी की हत्या की

 
पुलिस के मुताबिक पति-पत्नी में अक्सर विवाद होता था. पत्नी रेनू पति की बेरोजगारी से तंग आ चुकी थी और उसने इसी  को लेकर सुनील को ताना मारा था. सुनील इस ताने को हजम नहीं कर पाया और आगबबूला हो गया . नाराज होकर सुनील ने रेनू के सिर पर जानलेवा वार कर दिया। एसएसपी शलभ माथुर के मुताबिक रेनू की हत्या बेडरूम में की गई थी। 
 

सुनील की बताई कहानी हजम नहीं कर पाई पुलिस


रेनू की हत्या के सिलसिले में सुनील से पुलिस ने पूछताछ की तो सुनील ने कुछ अजीब सी कहानी सुनाई उसने पुलिस को बताया कि वह 3.30 बजे मार्निंग वाक पर गया था। यही बात पुलिस के शक की वजह बनी दरअसल ये तो तय था ही कि हत्या किसी करीबी ने की है। जिसके बाद रेनू के घर के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को खंगाला गया लेकिन कुछ नहीं मिला। लेकिन सूरजकुंड ओवरब्रिज के आसपास लगे कैमरे की जब फुटेज चेक की गई तो उसमें सुनील जाता दिखा। उसके हाथ में झोला था। इसी बीच पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई। इससे पता चला कि रेनू की हत्या मंगलवार की रात 12.30 बजे की गई थी। इस रिपोर्ट के बाद ही सुनील को हिरासत में लिया गया। पुलिस ने जब सख्ताई से पूछताछ की तो उसने अपनी हैवानियत की कारगुजारी उगल दी और पत्नी की हत्या का जुर्म कबूल कर लिया।

इन वजहों से पुलिस को हुआ सुनील पर शक


पोस्टमार्टम में रात 12:30 बजे हत्या की पुष्टि हुई थी जबकि सुनील ने कुछ और ही कहानी बताई थी

- सुनील का तड़के 3:30 बजे टहलने जाना, वह भी तब जब पत्नी की तबीयत खराब थी

- 4:30 बजे तक शव का अकड़ जाना और खून का जम जाना

- सीसीटीवी फुटेज में सुनील के अलावा किसी और का न दिखना

- पति के बाएं हाथ और शरीर पर चोट के निशान का मिलना

क्या कहना है पुलिस का


वहीं एसएसपी ने सुनील के हवाले से बताया कि मंगलवार की देर रात रेनू की तबीयत खराब थी। इसपर पति ने कहा घबराओ नहीं, अपनी बहन के घर से गाड़ी मंगा लेता हूं। इतना सुनते ही पत्नी भड़क गईं और उसे खरी-खोटी सुनाने लगीं। साथ ही बट्टा उठाकर खुद को मारने लगीं। इस पर उसे भी गुस्सा आ गया और उसने पत्नी से बट्टा छीनकर उसके सिर पर मार दिया। पुलिस से बचने के लिए ही उसने मार्निंग वॉक से लौटने के बाद पत्नी का शव मिलने की कहानी गढ़ी। सीसीटीवी फुटेज में सुनील के हाथ में जो झोला दिखा, उसमें वह हत्या में इस्तेमाल बट्टा लेकर जा रहा था। पुलिस ने बट्टा भी बरामद कर लिया है।पुलिस के मुताबिक हत्या के आरोप से बचने के लिए सुनील ने ही घर का सामान बिखेरा और पुलिस को बताया था कि पत्नी की हत्या के बाद लूटपाट की गई है। एक कान का टप्स और कुछ कैश गायब हैं।

इंस्पेक्टर भाई के सामने हुई पति से पूछताछ


रेनू सिंह के भाई और जीआरपी इंस्पेक्टर अजित सिंह के सामने ही पुलिस ने सुनील सिंह से पूछताछ की। इस दौरान सुनील ने पूरी घटना कबूल की  इस घटना से जीआरपी इंस्पेक्टर को भी सदमा लगा। उन्हें भरोसा नहीं था कि सुनील अपनी पत्नी की हत्या कर देगा।

लेखक

Anshul vajpayee

Police Media News

Leave a comment