Khaki Connection

एक दारोग़ा ऐसा भी, यू पी पुलिस को कर दिया शर्मसार

एक दारोग़ा ऐसा भी, यू पी पुलिस को कर दिया शर्मसार

हरदोई जिले में तैनात डायल 100 नंबर प्रभारी एसएसआई रणजीत सिंह की संवेदनहीनता की कहानी बयां कर रहा है.....वैसे तो पुलिस विभाग में अक्सर ऐसे मामले पाए जाते है जिसमें सीनियर अपने जूनियर से निजी काम करवाते है और अगर अगर कोई इसका विरोध करता है तो उसके साथ दुर्व्यवहार भी किया जाता है....लेकिन इस बार एसएसआई रणजीत सिंह ने सभी मामलों को पीछे छोड़ते हुए मानवता को तार तार कर के रख दिया....दारोग़ा साहब को क्या पता था की उनकी ये शर्मनाक हरकत दो लोगों की मौत का कारण बन जाएगी

दरअसल मामला हरदोई जिले का है जहाँ अजीत सिंह नाम का सिपाही तैनात है....जिसकी पत्नी की अचानक से तबियत ख़राब हो गयी....जिसके चलते उसने अपनी पत्नी का इलाज कराने के लिए दारोग़ा से अवकाश की माँग की.....लेकिन दारोग़ा रणजीत सिंह ने अवकाश देने से मना कर दिया....समय पर इलाज न होने की वजह से सिपाही अजीत की पत्नी की मौत हो गयी....जिसकी सूचना फ़ोन के द्वारा अजीत को मिली.....जिसके बाद उसने जिले के कप्तान बिलग्राम को अपनी समस्या से अवगत कराया और अवकाश के लिए माँग की....तब जाकर उसको अपनी पत्नी के अंतिम संस्कार के लिए तीन दिन का अवकाश प्रदान किया गया....आपको बता दे इस दुख को बर्दाश्त ना कर पाने की वजह से सिपाही अजीत की नानी की भी मौत हो गयी....

डीजीपी साहेब आप से बस एक ही सवाल हैं इन दोनो मौतों के ज़िम्मेदार दारोग़ा रणजीत को कब सज़ा मिलेगी....और आख़िर कब तक पुलिस विभाग में काम कर रहे सीनियर अपने जूनियर के साथ ऐसा बर्ताव करते रहेंगे....अब देखना ये होगा कि ये मामला भी सिर्फ़ जाँच तक सीमित रहता है या फिर कोई कार्यवाई भी होती है....

मुख्य संवाददाता

Police Media

Police Media News

Leave a comment