Crime

सहयोगी ने युवती को जबरन शराब पिलाकर खींचे अश्लील फोटो और बनाई वीडियो

सहयोगी ने युवती को जबरन शराब पिलाकर खींचे अश्लील फोटो और बनाई वीडियो

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद से लगातार महिला अपराध के मामले सामने आ रहे हैं। बीते दिनों जहां एक छात्रा और एक युवती के ऑटो गैंग की शिकार बनने का मामला सामने आया था तो वहीं एक बार फिर गाजियाबाद में एक बड़ी कंपनी में काम करने वाली युवती को उसी के सहयोगी द्वारा जबरन शराब पिलाने और फिर अश्लील फोटो खिंचने और वीडियो बनाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है । गौरतलब है कि पीड़िता  दो महीने पहले जॉब छोड़ चुकी है लेकिन अब उसके साथ काम करने वाला एक युवक उस पर दोबारा अपनी कंपनी में नौकरी करने का दबाव बना रहा है। युवक ने पीड़िता को कंपनी ज्वाइन न करने पर उसके अश्लील फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी भी दी है। युवक की धमकी से खौफजदा पीड़िता ने कविनगर थाने में आरोपी युवक के खिलाफ तहरीर दी है। 

जानिए पूरा मामला

सिहानीगेट थाना क्षेत्र की एक कालोनी में रहने वाली युवती ने कविनगर थाने में एक युवक के खिलाफ तहरीर देते हुए बताया कि वह आरडीसी की अंसल बिल्डिंग स्थित एक कंपनी में काम करती थी। पीड़िता  के मुताबिक यह कंपनी युवाओं को विदेशों में रोजगार दिलाने का काम करती है। युवती का कहना है कि कंपनी के मालिक का खास युवक करीब चार महीने पूर्व उसे काम के बहाने से राजनगर में एक्सटेंशन की एक सोसायटी स्थित फ्लैट में ले गया। यहां उसने उसे कंपनी के मालिक से मिलवाया और जबरन शराब पिलाई। पीड़िता के मुताबिक जब उसने विरोध किया तो उसके साथ मारपीट की गई। और इसी दौरान चुपके से उसके अश्लील फोटो खींच लिए गए और वीडियो बना ली गई। 

आरोपी युवक अपनी कंपनी में नौकरी करने के लिए दे रहा है धमकी

पीड़ित युवती का कहना है कि इसके बाद उसने नौकरी छोड़ दी थी। और अब युवती का आरोप है कि आरोपी युवक ने कुछ दिन पहले उसे फोन किया और कहा कि वह टीएचए में नई कंपनी खोल रहा है।इस कंपनी में उसे ड्यूटी ज्वाइन करनी है। युवती के मना करने पर आरोपी ने उसके वीडियो व फोटो वायरल करने की धमकी दी। 

गाजियाबाद में महिलाएं हर तरह से असुरक्षित

वहीं इस मामले में एसएचओ राजकुमार शर्मा का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद रिपोर्ट दर्ज कर आरोपियों पर कार्रवाई की जाएगी। पुलिस बेशक जांच करने की बात कह रही है लेकिन बीते दिनों महिला और छात्रा के साथ हुई वारदात में पुलिस की कार्रवाई जीरो ही रही है। वहीं इस घटना ने एक बार फिर साबित कर दिया कि गाजियाबाद में महिलाएं हर तरह से असुरक्षित हैं। सड़क पर हो या किसी बड़ी कंपनी में काम कर रही हों महिलाओं के साथ अपराधों का सिलसिला बदस्तूर जारी है। ऐसे में सवाल उठना लाजमी है कि महिलाओं पर जुल्म और ज्यादती करने वालों पर पुलिस का डंडा कब चलेगा। आखिर कब तक महिलाएं खौफ के साएं में जीने को मजबूर रहेंगी

लेखक

Sandhya mishra

Police Media News

Leave a comment