Crime

यूट्यूब देखकर बम बनाने की कला ने युवक को पहुंचाया जेल

यूट्यूब देखकर बम बनाने की कला ने युवक को पहुंचाया जेल

सीतापुर में व्यापारी के घर बम रखकर उसे जान से मारने की धमकी देकर 20 लाख की रंगदारी मांगने के मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं इस मामले में पुलिस ने बेहद सनसनीखेज खुलासा किया है। पुलिस के मुताबिक धमकी देने वाले शख्स पर काफी कर्जा था और इसी कर्ज को चुकाने के लिए उसने एक अजीब तरीका ढूंढा।  सबसे पहले उसने सोशल साइट यूट्यूब के जरिये बम बनाने की टेक्निक सीखी और फिर विभिन्न जनपदों के व्यापारियों को निशाना बनाकर उनसे रंगदारी वसूलने का काम करने लगा। फिलहाल पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है

OTHER VIDEO :

जानिए पूरा मामला

मामला लहरपुर कोतवाली क्षेत्र के कस्बे का हैं। यहां रहने वाला हरीश रस्तोगी पेशे से सर्राफा व्यापारी हैं। पुलिस के मुताबिक व्यापारी को फोन पर धमकी मिली थी कि अगर उसने 20 लाख की रंगदारी नहीं दी तो उसे और उसके पूरे परिवार को बम से उड़ा दिया जाएगा। व्यापारी ने फौरन इस धमकी भरे फोन आने की जानकारी पुलिस को दी। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस और बम निरोधक दस्ते ने कई घण्टों की जांच पड़ताल के बाद बमनुमा दिखने वाली डिवाइस को निष्क्रिय कर दिया था। लेकिन बाद में पता चला कि ये बम नही था बल्कि घरों में वायरिंग में काम आने वाले पाइप और कार का रिमोट लगाकर नकली बम की शक्ल दी गयी थी।

OTHER VIDEO :

8 घंटे की मशक्कत के बाद धरा गया आरोपी

पुलिस ने इस मामले में फ़ोन कॉल के जरिये धमकी देने वाले शख्स की खोजबीन शुरू की तो तकरीबन 8 घंटों की कड़ी पड़ताल एक बाद अपाचे बाइक पर सवार एक संदिग्ध युवक को पुलिस ने दबोच लिया। पुलिस ने जब उससे कड़ाई से पूछताछ की तो उसने सारा सच उगल दिया और फिर उसने जो कहानी बताई उससे पुलिस के होश फाख्ता हो गए। पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार हुए बदमाश गुड्डू की पहचान तंबौर थाना क्षेत्र के ग्राम नवाब साहब निवासी के रूप में हुई हैं। पुलिस के मुताबिक इस अपराधी ने इससे पहले सीतापुर शहर कोतवाली में रहने वाले एक दाल व्यापारी के यहां भी नकली बम रखकर रंगदारी मांगी थी लेकिन सफल नही हो पाया था। 

कर्ज चुकाने के लिए मांगता था रंगदारी

पुलिस के मुताबिक ये शातिर अपराधी हैं और वो सीतापुर समेत आस-पास के जनपदों में व्यापारियों को निशाना बनाकर उससे रंगदारी मांगने का काम करता था। पुलिस गिरफ्त में आये गुड्डू ने बताया कि उसने अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए काफी कर्ज ले रखा था जिसे वापस देने के लिए वो व्यापारियों को निशाना बनाता था और बम बनाने की टेक्निक उसने यूट्यूब पर देखकर सीखी थी और वायरिंग में काम आने वाला पाइप और कार के रिमोट का इस्तेमाल करके नकली बम को बनाता था और व्यापारियों के यहां रखकर उनसे रंगदारी मांगता था।

लेखक

Anshul vajpayee

Police Media News

Leave a comment