Smart Policing

सिपाही के इलाज के लिए दरियादिल हुआ पुलिस महकमा

सिपाही के इलाज के लिए दरियादिल हुआ पुलिस महकमा

यूपी के इटावा में सिपाही के इलाज के लिए पुलिस कप्तान व साथी पुलिस कर्मियों ने दरियादिली की मिसाल पेश की। दरअसल, सिपाही की दोनों किडनी खराब हो गयी थीं और इलाज में 20 लाख रुपये से ज़्यादा खर्च हो गया था। अब आगे के इलाज के लिए सिपाही के हाथ खाली थे। सिपाही की यह पीड़ा जब जिले के कप्तान ने सुनी तो उन्होने उसकी मदद की ठानी। कप्तान की पहल पर अन्य पुलिसकर्मियों ने भी रुपये एकत्रित कर सिपाही को सौंपा जिससे उसका इलाज आगे बढ़ा।   

क्या था मामला

मूल रूप से गाज़ियाबाद निवासी कपिल कुमार सिपाही है और इटावा में टेलीफोन ड्यूटी पर तैनात है। कपिल कुमार की दोनों किडनी खराब  हो चुकी है जिसके इलाज के लिए काफी रुपयों की जरूरत थी। दिल्ली के एक  अस्पताल में इलाज कराते 20 लाख रुपये से अधिक खर्च भी हो चुके हैं। ऐसे में इलाज और परिवार का खर्च एक साथ चलाना उनके लिए मुश्किल हो रहा था। सिपाही के परिवार की आर्थिक स्थिति भी ठीक नहीं है जिसके चलते वह आगे के इलाज के लिए असमर्थ था। सिपाही की यह परेशानी जिले के कप्तान तक पहुंची तो उन्होंने मदद की ठानी। 

एसएसपी ने की मदद की पहल

इटावा के एसएसपी अखिलेश कुमार चौरसिया की पहल पर पूरे जिले की पुलिस एक हो गई और अपने साथी की मदद को आगे आई। इस तरह हर पुलिसकर्मी ने अपने एक दिन का वेतन कपिल को देने के लिए ठानी। अब तक करीब 4 लाख रुपये एकत्रित किए गए हैं। इसके बाद एसएसपी अखिलेश कुमार चौरसिया ने मरीज सिपाही को बुलाकर चेक सौंप दिया । 

पहले भी की है मदद 

आईपीएस अखिलेश कुमार चौरसिया ने पहले भी इसी तरह मदद को हाथ आगे बढाए हैं। पिछले साल झांसी में तैनाती के दौरान उन्होंने एक होमगार्ड के बेटे के इलाज के लिए इसी तरह की मदद की थी। होमगार्ड के 18 साल के बेटे की दोनों किडनियां खराब हो गई थीं जिसके लिए पुलिस महकमे की तरफ से उसे 1.5 लाख रुपये की मदद दी गई थी।

लेखक

Sandhya mishra

Police Media News

Leave a comment