Crime

जमीन विवाद में जूना अखाड़े की साध्वी को जिंदा जलाया

जमीन विवाद में जूना अखाड़े की साध्वी को जिंदा जलाया

उत्तर प्रदेश इन दिनों एक के बाद एक हो रहे कांडों से सुलग उठा है। अब शाहजहांपुर के तिलहर में जूना अखाड़े की साध्वी कोयल गिरी को जमीन विवाद में ज़िंदा जलाने का दिलदहला देने वाला मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक गंभीर हालत में साध्वी को बरेली के अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई

जानिए पूरा मामला 

बीते 23 नवंबर की रात को शाहजहांपुर के तिलहर में जूना अखाड़े की साध्वी कोयल गिरी को जिंदा जला दिया गया था जिसके बाद उन्हे बरेली के निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था लेकिन यहां इलाज के दौरान साध्वी की मौत हो गयी। बताया जा रहा है कि, 23 नवंबर को रात 8:00 बजे कोयल गिरी लखनऊ से अपने घर लौट रही थी कि इसी दौरान उनको रास्ते में आरोपियों ने पकड़ लिया और गंदी-गंदी गालियां देते हुए उनके कपड़े फाड़ दिए। इस दौरान साध्वी ने भागने की भी कोशिश की तभी आरोपियों ने मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दी थी। वहीं साध्वी की मौत के बाद 24 नवंबर को कोयल गिरी की मां ने तिलहर कोतवाली में सुशील बाबू, अनिल गुप्ता, पंकज गुप्ता, अनुराग गुप्ता और दौलत गिरी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। उन्होंने आरोप लगाया कि उनकी जमीन का इन लोगों ने फर्जी बैनामा करा लिया था, जिस पर कब्जा करने के प्रयास के तहत ये लोग आए दिन धमकाते थे।
 

2012 में पीस पार्टी से तिलहर विधानसभा के लिए लड़ा था चुनाव

साध्वी बनने से पहले कोयल गिरी का असली नाम सीमा था, बाद में जब उन्होंने दीक्षा ली तो वो सीमा से साध्वी कोयल गिरी बन गई। उन्होंने करीब डेढ़ साल पहले लखनऊ में मन कामेश्वर मठ से दीक्षा ली थी। साध्वी कोयल गिरी 2012 में पीस पार्टी से तिलहर विधानसभा से चुनाव भी लड़ी थी।
 

आखिर क्या कर रही है सरकार

बहरहाल इस हृदय विदारक घटना ने एक बार फिर साबित कर दिया की प्रदेश में अब अपराधी बेखौफ हो चुके हैं नतीजतन एक के बाद एक दिल दहला देने वाली घटनाओ को अंजाम दे रहे हैं। वहीं अब सवाल उठता है कि आखिर मौजूदा सरकार कर क्या रही है?  क्यों प्रदेश की कानून-व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए कठोर कदम नहीं उठाए जा रहे हैं?  आखिर किस बात का इंतजार किया जा रहा है? बहरहाल कहना गलत नहीं होगा कि अगर प्रदेश में ऐसी  घटनाएं खुलेआम होती रहीं, तो वो दिन दूर नहीं जब उत्तर प्रदेश पूरे देश में अपराध की श्रेणी में सबसे ऊपर होगा। बहरहाल सीएम साहब जागिए और प्रदेश की सुरक्षा व्यवस्था पर चिंतन कीजिए

संवाददाता

Lalit Negi

Police Media News

Leave a comment